S M L

विश्वयुद्ध हुआ तो ऐसे खुद को बचाएगा जापान, WW-2 के बाद पहला मॉक ड्रिल

यह ड्रिल उत्तर कोरिया के परमाणु और मिसाइल कार्यक्रमों से इस क्षेत्र में बढ़ें तनाव के बीच किया गया है

FP Staff Updated On: Jan 22, 2018 02:02 PM IST

0
विश्वयुद्ध हुआ तो ऐसे खुद को बचाएगा जापान, WW-2 के बाद पहला मॉक ड्रिल

जापान की राजधानी टोक्यो के लोगों में उस समय हड़कंप मच गया जब सेना के हमलों से बचने के लिए ड्रिल किया गया. यह दूसरे विश्व युद्ध के बाद किया गया पहला ड्रिल था, जो सेना के हमलों से बचने के लिए किया गया था. उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रम पर चल रहे तनाव के बीच यह ड्रिल किया गया.

राजधानी टोक्यो में स्थित अम्यूजमेंट पार्क में किए गए ड्रिल में लाउडस्पीकर से खतरनाक तरह की चेतावनी दी गई. चेतावनी में कहा गया कि हमें जानकारी मिली है कि हमारे तरफ मिसाइल दागा गया है. आप लोगों से अपील है कि शांतिपूर्ण तरीके से इमारत या भूमिगत जगहों पर छुप जाएं.

लाउडस्पीकर से चेतावनी के बाद पार्क का कर्मचारी चिल्लाते हुए भागा कि हमारी तरफ मिसाइल दागी गई है. इसके बाद 250 से अधिक स्थानीय लोग और वहां काम करने वाले कर्मचारियों ने इमारतों को खाली कर सुरक्षित जगह पर शरण लिया.

टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक, इसके कुछ ही मिनट बाद दोबारा अनाउंसमेंट हुआ कि मिसाइल यहां से पास हो चुकी है. मिसाइल कांटो (ग्रेटर टोक्यो) के ऊपर से होती हुई पैसिफिक सागर की तरफ बढ़ गई है.

भूकंप के प्रकोप वाले जापान के लोग इस तरह होने वाले अभ्यास से परिचित हैं. वहां पर इस तरह का अभ्यास हमेशा होते रहता है. इसमें स्कूल से लेकर कार्यलय तक शामिल हैं. लेकिन टोक्यो में उत्तर कोरियाई मिसाइल हमले की चिंता को लेकर किया गया ड्रिल अपने आप में नया है. हालांकि पिछले साल जापान के दूसरे हिस्सों में इसी तरह के अभ्यास आयोजित किए गए थे.

इस ड्रिल के विरोध में हुआ प्रदर्शन

वहीं, कई लोगों ने इस ड्रिल का समर्थन किया तो कईयों ने इसका विरोध भी किया है. इस ड्रिल के विरोध में एक प्रदर्शन भी किया गया जिसमें लोगों ने कहा कि हम इस तरह के ड्रिल के खिलाफ हैं. यह युद्ध को बढ़ावा देता है. राजधानी में हुए प्रदर्शन में लोगों ने कहा कि यदि कोई युद्ध हो, तो आप बच नहीं पाएंगे. एक परमाणु युद्ध सब कुछ नष्ट कर देगा.

यह ड्रिल उत्तर कोरिया के परमाणु और मिसाइल कार्यक्रमों से इस क्षेत्र में बढ़ें तनाव के बीच किया गया है. बावजूद इसके की उत्तर कोरिया द्वारा दक्षिण कोरिया में शीतकालीन खेलों में एथलीट भेजने की योजना ने वैश्विक स्तर पर ध्यान आकर्षित किया है.

उत्तर कोरिया ने इस क्षेत्र में एक प्रमुख अमेरिकी सहयोगी जापान पर जमकर मौखिक हमले भी किए हैं. उत्तर कोरिया ने जापान को समुद्र में डूबा देने और देश को राख में तब्दील कर देने की धमकी भी दी थी.

पिछले साल उत्तर कोरिया ने जापान की तरफ तीन मिसाइलों को दागा था जिसकी वैश्विक निंदा हुई थी. इससे उस क्षेत्र में तनाव का माहौल हो गया था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
कोई तो जूनून चाहिए जिंदगी के वास्ते

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi