S M L

जानिए कौन हैं इंटरपोल के वो चीफ, जिन्हें चीन ने कर लिया है गिरफ्तार

चीन की कम्युनिस्ट पार्टी की सरकार की ओर से जारी बयान में उन्होंने कहा कि होंगवेई को कानूनों के उल्लंघन के मामले में पूछताछ के लिए रोका गया है

Updated On: Oct 08, 2018 03:36 PM IST

FP Staff

0
जानिए कौन हैं इंटरपोल के वो चीफ, जिन्हें चीन ने कर लिया है गिरफ्तार

दुनियाभर में उस वक्त हड़कंप मच गया जब इंटरपोल चीफ मेंग होंगवेई की पत्नी ग्रेस मेंग उनसे संपर्क न होने की बात लेकर फ्रांस की पुलिस के पास पहुंची. इस मामले में शुक्रवार को फ्रेंच अधिकारियों द्वारा सार्वजनिक की गई जानकारी के मुताबिक होंगवेई से 25 सितंबर के बाद से कोई संपर्क नहीं हुआ है.

मेंग होंगवेई एक चीनी नागरिक हैं और इंटरपोल के चीफ हैं. इंटरपोल का हेडक्वार्टर फ्रांस के लियोन में है. मेंग होंगवेई अपनी पत्नी ग्रेस के साथ लियोन में ही रहते हैं. ग्रेस ने रविवार को बताया कि उनके पति चीन में अपने गृहनगर की यात्रा पर गए थे जिसके बाद से उनसे कोई संपर्क नहीं हुआ है.

इसी के साथ उन्होंने खतरे की आशंका का जिक्र करते हुए कहा कि 25 सितंबर को होंगवेई ने उन्हें वॉट्सऐप पर चाकू का इमोजी भेजा था. जो कि उनके अनुसार किसी खतरे के लिए उन्हें आगाह करने का इशारा था.

मेंग की पत्नी ने मीडिया से बातचीत तो की लेकिन अपनी और अपने बच्चों की सुरक्षा के लिए उन्होंने तस्वीर छापने से इनकार किया. ग्रेस ने मीडिया से साक्षात्कार में कहा कि चाकू का फोटो भेजने के पहले होंगवेई ने उन्हें मैसेज किया था 'मेरे कॉल का इंतजार करो.'

चीन ने कबूला, उनके कब्जे में हैं होंगवेई

हालांकि मेंग के लापता होने के 13 दिन बाद चीनी अधिकारियों ने यह बात कबूल की है कि होंगवेई उनके कब्जे में हैं. सोमवार को चीनी अधिकारियों ने कहा कि वह रिश्वत और अन्य अपराधों के लिए इंटरपोल के पूर्व अध्यक्ष मेंग होंगवेई की जांच कर रहे हैं. इसी के साथ उन्होंने संकेत दिया कि राजनीतिक उल्लंघनों के चलते भी मेंग को परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है.

एसोसिएटेड प्रेस के मुताबिक चीन ने एक सरकारी वेबसाइट पर बयान जारी किया है. बयान में अधिकारियों ने कहा, 'चीन के जन सुरक्षा उपमंत्री रह चुके मेंग होंगवेई की भ्रष्टाचार और राजनीतिक उल्लंघन के मामले में जांच की जा ही है. बयान के अनुसार होंगवेई अपनी इच्छा से वहां गए थे और तमाम मुसिबतों के लिए वह खुद ही जिम्मेदार हैं.

जन सुरक्षा की आधिकारिक वेबसाइट पर जारी बयान में मेंग पर लगे आरोपों की पूर्ण जानकारी नहीं दी गई है. हालांकि बयान में इस बात का जिक्र किया गया है कि राजनीतिक उल्लंघनों के चलते भी उनकी जांच हो सकती है. रविवार देर रात जैसे ही चीन ने कबूल किया कि मेंग उनकी गिरफ्त में हैं उसके चंद घंटों बाद ही मेंग ने फ्रांस स्थित इंटरपोल के मुख्यालय में इंटरपोल प्रमुख के पद से अपना इस्तीफा भी भेज दिया.

पहले चीनी अधिकारी हैं मेंग जिन्हें बनाया गया है इंटरपोल प्रमुख

मेंग होंगवेई एक वरिष्ठ चीनी सुरक्षा अधिकारी रह चुके हैं. साथ ही वह चीन के जन सुरक्षा उपमंत्री भी रह चुके हैं. वह पहले चीनी नागरिक थे जिन्हें इंटरपोल का प्रमुख बनाया गया हो. इंटरपोल की वेबसाइट के मुताबिक मेंग को अपराधिक न्याय और पुलिस व्यवस्था में 40 साल का अनुभव है. इसी के साथ उन्होंने नार्कोटिक्स कंट्रोल और आतंकवाद विरोधी कई मामलों में भी खास भूमिका निभाई है.

इंटरपोल में नियुक्ति के बाद से ही कई लोगों ने मेंग होंगवेई की नियुक्ति की आलोचना की थी. आलोचकों के मुताबिक मेंग की नियुक्ति ने चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के भ्रष्टाचार विरोधी अभियान द्वारा लक्षित भ्रष्ट अधिकारियों समेत कथित आर्थिक अपराधियों को ट्रैक करने में अधिक अंतरराष्ट्रीय सहायता हासिल करने का मौका दिया.

हालांकि इंटरपोल ने इन आरोपों का खंडन कर दिया था और कहा था कि इंटरपोल प्रमुख दिन-प्रतिदिन के मुद्दों में हस्तक्षेप नहीं करते. यह मामले जर्मनी के जनरल जुर्गेन स्टॉक द्वारा नियंत्रित किया जाते है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi