S M L

भारतीयों को फ्रांस में नहीं पड़ेगी ट्रांजिट वीजा की जरूरत, जानें आखिर किस तरह का वीजा होता है ये

फ्रांस ने घोषणा की है कि देश से गुजरने के दौरान भारतीय पासपोर्ट धारकों को अब हवाई अड्डा पारगमन (ट्रांजिट) वीजा की आवश्यकता नहीं होगी

FP Staff Updated On: Jul 27, 2018 03:51 PM IST

0
भारतीयों को फ्रांस में नहीं पड़ेगी ट्रांजिट वीजा की जरूरत, जानें आखिर किस तरह का वीजा होता है ये

फ्रांस ने घोषणा की है कि देश से गुजरने के दौरान भारतीय पासपोर्ट धारकों को अब हवाई अड्डा पारगमन (ट्रांजिट) वीजा की आवश्यकता नहीं होगी. भारत में फ्रांस के राजदूत एलेक्जेंडर जेगलर ने पिछले सप्ताह ट्विटर पर कहा, 'मुझे यह घोषणा करने में प्रसन्नता हो रही है कि 23 जुलाई, 2018 से भारतीय पासपोर्ट धारकों को फ्रांस में किसी भी हवाई अड्डे के अंतरराष्ट्रीय क्षेत्र से गुजरने के दौरान हवाई अड्डा ट्रांजिट वीजा (एटीवी) की जरूरत नहीं होगी, फ्रांस चुनें.' फ्रांस शेंगेन क्षेत्र का एक हिस्सा है जिसमें 26 यूरोपीय देश शामिल हैं.

क्या होता है ट्रांजिट वीजा

ट्रांजिट वीजा एक तरह का टेमपरेरी शॉर्ट पीरियड वीजा होता है, जो कि यात्रा के दौरान काम आता है. कई देशों में ऐसा है कि अगर आप 24 घंटे से ज्यादा समय तक रुकते हैं तो वहां आपको ट्रांजिट वीजा लेना पड़ता है. फ्रांस भी शेंगेन क्षेत्र का एक हिस्सा है जिसमें 26 यूरोपीय देश शामिल हैं. इन 26 यूरोपीय देशों में यात्रा के दौरान अफगानिस्तान, बांग्लादेश, घाना, भारत, इरान, इराक, पाकिस्तान, श्रीलंका समेत 19 देशों के यात्रियों को शेंगेन क्षेत्र में आने वाले देशों के हवाईअड्डों के अंतरराष्ट्रीय क्षेत्र से गुजरने के दौरान ट्रांजिट वीजा की जरूरत पड़ती है.

शेंगेन क्षेत्र क्या है

26 यूरोपीय देशों का समूह, जहां के नागरिकों को बिना पासपोर्ट अपने से सटे हुए देशों में आने जाने की सुविधा दी गई है, उसे शेंगेन क्षेत्र कहा जाता है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi