S M L

डॉक्टर कहकर नहीं बुलाया तो प्रोफेसर ने लगाया नस्लीय भेदभाव का आरोप

किंग्स कॉलेज लंदन में स्टाफ द्वारा डॉक्टर बुलाने से इनकार करने पर एक भारतीय मूल की प्रोफेसर हड़ताल पर चली गई हैं, उन्होंने स्टूडेंट्स को पढ़ाने से इनकार कर दिया है

FP Staff Updated On: Jul 01, 2018 09:10 PM IST

0
डॉक्टर कहकर नहीं बुलाया तो प्रोफेसर ने लगाया नस्लीय भेदभाव का आरोप

अकादमिक जगत में प्रियंवदा गोपाल एक जाना-पहचाना नाम है. कैंब्रिज यूनिवर्सिटी के किंग्स कॉलेज की भारतीय मूल की प्रियंवदा गोपाल अपने अकादमिक कार्यों के अलावा नस्ल-भेद के खिलाफ आवाज उठाने के लिए भी जानी जाती हैं. पिछले दिनों ट्विटर पर उन्होंने एक ऐसे ही मुद्दे को उठाया.

18 जून को प्रियंवदा ने ट्वीट कर लिखा कि वो विश्वविद्यालय के स्टाफ द्वारा किए जा रहे नस्लीय भेदभाव के खिलाफ हड़ताल पर जा रही हैं और उन्होंने किंग्स कॉलेज में स्टूडेंट्स को पढ़ाना बंद कर दिया है. उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय के स्टाफ उन्हें डॉक्टर कहकर नहीं बुलाते हैं, जबकि वो पीएचडी डिग्री धारक हैं और अकादमिक चलन के अनुसार उन्हें डॉक्टर कहकर बुलाया जाना चाहिए.

क्यों नाराज हैं प्रियंवदा?

उपनिवेशवादोत्तर साहित्य (पोस्ट कॉलोनियल लिटरेचर) में विशेषज्ञता रखने वाली कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय की फैलो प्रियंवदा गोपाल का आरोप है कि किंग्स कॉलेज में साथी स्टाफ उनके साथ नस्लीय व्यवहार कर रहे हैं और उन्हें डॉक्टर न बुलाया जाना इसी का हिस्सा है. इस घटना के बाद उन्होंने ट्विटर पर लिखा कि कैसे उन्होंने अपने एक साथी कर्मी से कहा, 'कृपया मुझे डॉक्टर गोपाल कहें' इसके जवाब में उन्होंने कहा, ' मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता कि तुम कौन हो.'

उन्होंने कहा कि यह मामला सिर्फ उनके हठपूर्वक उन्हें 'मैडम' की जगह उनके उचित नाम से बुलाने का नहीं है बल्कि इसका मजाक के तौर पर और उपेक्षा के लिए इस्तेमाल किए जाने का है.

प्रियंवदा ने कहा कि 'मैं उपनिवेशवादोत्तर साहित्य पर किंग्स कॉलेज में स्वैछिक आधार पर पढ़ा रही हूं, मुझे किसी व्यक्ति ने नहीं बल्कि कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी ने नियुक्त किया है; कॉलेज के पास उपनिवेशवादोत्तर साहित्य में कोई विशेषज्ञ नहीं है. इस वजह से मैं अपने आपको इस कॉलेज से अगले नोटिस तक अलग कर रही हूं.'

गोपाल दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय की स्टूडेंट रही हैं और पिछले 18 सालों से ब्रिटेन में पढ़ा रही हैं. ट्विटर पर उनके करीब 20,000 फॉलोअर हैं.

(भाषा से इनपुट)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi