S M L

अब दूसरी भारतीय-अमेरिकी महिला चर्चा में, न्यूक्लियर एक्सपर्ट रीता बरनवाल को मिला अहम पद

ट्रंप ने रीता बरनवाल को ऊर्जा मंत्रालय में असिस्टेंट एनर्जी सेक्रेटरी (न्यूक्लियर एनर्जी) के तौर पर नॉमिनेट करने की घोषणा की है

Updated On: Oct 04, 2018 10:16 AM IST

FP Staff

0
अब दूसरी भारतीय-अमेरिकी महिला चर्चा में, न्यूक्लियर एक्सपर्ट रीता बरनवाल को मिला अहम पद

अभी अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) में भारतीय मूल की हार्वर्ड यूनिवर्सिटी की प्रोफेसर गीता गोपीनाथ को मुख्य अर्थशास्त्री और अनुसंधान विभाग का प्रमुख नियुक्त करने की खबर आई ही थी कि एक दूसरी भारतीय-अमेरिकी महिला चर्चा में हैं. न्यूक्लियर एक्सपर्ट रीता बरनवाल को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक महत्वपूर्ण पद दिए जाने की घोषणा की है.

एडवांस्ड रिएक्टरों के विकास में तेजी लाने के लिए एक नए कानून पर हस्ताक्षर करने के कुछ ही दिन बाद ट्रंप ने ऊर्जा मंत्रालय में एक महत्वपूर्ण प्रशासनिक पद पर एक शीर्ष भारतीय अमेरिकी परमाणु विशेषज्ञ को नियुक्त करने का फैसला किया है.

ट्रंप ने रीता बरनवाल को ऊर्जा मंत्रालय में असिस्टेंट एनर्जी सेक्रेटरी (न्यूक्लियर एनर्जी) के तौर पर नॉमिनेट करने की घोषणा की है.

बरनवाल फिलहाल गेटवे फॉर एक्सीलरेटेड इनोवेशन इन न्यूक्लियर (जीएआईएन) पहल में निदेशक के तौर पर काम कर रही हैं. अगर सीनेट से हामी भरता है तो असिस्टेंट एनर्जी सेक्रेटरी के तौर पर बरनवाल महत्वपूर्ण परमाणु ऊर्जा विभाग का नेतृत्व करेंगी.

इससे पहले वह वेस्टिंगहाउस में प्रौद्योगिकी विकास एवं अनुप्रयोग की निदेशक के तौर पर काम कर चुकी हैं. वह बेशटेल बेटीस में पदार्थ प्रौद्योगिकी में प्रबंधक रह चुकी हैं. वहां उन्होंने अमेरिकी नौसैनिक रिएक्टरों के लिए परमाणु ऊर्जा में शोध एवं विकास की अगुवाई की.

अपने हाल ही के एक प्रेजेंटेशन में बरनवाल ने कहा था कि अमेरिका न्यूक्लियर इंडस्ट्री घरेलू और वैश्विक स्तर पर क्लीन एनर्जी की जरूरत के लिए इनोवेटिव न्यूक्लियर टेक्नोलॉजी की सप्लाई के लिए सक्षम है.

बरनवाल ने कहा, 'कॉमर्शियल न्यूक्लियर एनर्जी इंडस्ट्री को बनाने वाली ऊर्जा हमारे देश को फिर से बदलेगी. ऊर्जा की मांग को पूरा करने और क्लाइमेट चेंज से लड़ने के लिए अब नए, छोटे और कुशल रिएक्टर डेवलप किए जा रहे हैं.'

बरनवाल ने एमआईटी से Substance science and engineering में बीए और मिशिगन यूनिवर्सिटी से पीएचडी की पढ़ाई की है. वह एमआईटी के Substance Research Laboratory और यूसी बर्कले के Department of atomic engineering के सलाहकार बोर्ड में भी हैं.

ट्रंप ने पिछले हफ्ते Nuclear Energy Innovation Capabilities Act पर हस्ताक्षर किया था. यह अमेरिका में आधुनिक रिएक्टरों के विकास में तेजी लाएगा.

(एजेंसी से इनपुट के साथ)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi