Co Sponsor
In association with
In association with
S M L

अमेरिकी सांसद ने कहा, हम भारत के सैनिकों और नागरिकों की मौत पर चुप नहीं बैठेंगे

अगर भारत के सैनिकों और उसके नागरिकों पर हमले होते रहे तो भारत चुप नहीं बैठेगा.

Bhasha Updated On: May 10, 2017 02:58 PM IST

0
अमेरिकी सांसद ने कहा, हम भारत के सैनिकों और नागरिकों की मौत पर चुप नहीं बैठेंगे

अमेरिका के एक वरिष्ठ सांसद ने पाकिस्तान की आतंकवादी गतिविधियों को रोकने के लिए उसे चेताया है. सांसद ने पाकिस्तान से अपने देश के अंदर फल- फूल रहे कट्टरपंथी ताकतों पर कार्रवाई करने की मांग की है.

इसके अलावा उन्होंने इस्लामाबाद को आगाह भी किया की अगर भारत के सैनिकों और उसके नागरिकों पर हमले होते रहे तो भारत चुप नहीं बैठेगा.

हाउस ऑफ डेमोक्रेटिक कॉकस के अध्यक्ष जो क्राउले ने पीटीआई को दिए अपने इंटरव्यूह में बताया कि आतंकवादी संगठनों की गतिविधियों के कारण भारत पाक सीमा पर स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है.

उन्होंने इस बारे में ट्रंप प्रशासन से पाकिस्तान पर ज्यादा दबाव बनाने की मांग की है.

अमेरिकी मध्यस्था

एक प्रश्न के उत्तर में सांसद ने कहा कि भारत पाकिस्तान सीमा पर तनाव फैलाने वाले लश्कर-ए-तैयबा और अन्य आतंकवादियों को पाकिस्तान सरकार का संरक्षण मिला हुआ है.

उन्होंने कहा कि मेरा मानना है कि पाकिस्तान के अंदर चल रहे सक्रिय हिंसक और कट्टरपंथी संगठनों के सफाए के लिए और प्रयास किए जाने की जरूरत है. उन्होंने दोनों देशों को द्विपक्षीय तरीके से इस मुद्दे का हल निकालने को भी कहा है. क्राउले ने कहा कि इस मुद्दे को सुलझाने के लिए एक भूमिका है जो अमेरिका निभा सकता है. वो भूमिका ये है कि भारत और पाकिस्तान का मित्र होने के नाते अमेरिका क्षेत्र में शांति और सद्भभाव का मार्ग तलाशने के लिए मित्र देशों पर दबाव बनाए.

अफगानिस्तान नीति पर बातचीत

उन्होंने उम्मीद जताई कि ट्रंप प्रशासन अफगानिस्तान नीति पर भारत से जानकारी मांगेगा. ऐसा माना जा रहा है कि उसे अंतिम रूप दिए जाने के लिए काम चल रहा है.

कोई सिद्धांत बनाने से पहले अफगानी और भारतीय जनता के बीच ऐतिहासिक संबंधों को ध्यान में रखना जरूरी है.

क्राउले ने उम्मीद जताते हुए कहा कि राष्ट्रपति ट्रंप और विदेश मंत्रालय भारत सरकार की राय को ध्यान में रखेगा.

भारतीय जनता और सरकार ने लगातार आतंकवादी हमले झेले हैं. अब और इस तरह की गतिविधियों को रोकने के लिए अमेरिका गंभीरता से इस मुद्दे पर विचार कर रहा है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
जो बोलता हूं वो करता हूं- नितिन गडकरी से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi