S M L

भारत, ताजिकिस्तान चाबहार बंदरगाह से व्यापारिक कड़ी बनाएंगे : मोदी

ईरान में चाबहार बंदरगाह के जरिए व्यापार और पारगमन संपर्क बनाने पर काम करेंगे

Updated On: Dec 17, 2016 06:54 PM IST

IANS

0
भारत, ताजिकिस्तान चाबहार बंदरगाह से व्यापारिक कड़ी बनाएंगे : मोदी

भारत और ताजिकिस्तान ईरान में चाबहार बंदरगाह से व्यापार परिवहन संपर्क विकसित करने के लिए साथ मिलकर काम करेंगे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत दौरे पर आए ताजिकिस्तान के राष्ट्रपति एमोमली रहमान से मुलाकात के बाद ये बातें कही.

दोनों देशों के बीच शनिवार को मध्य एशिया के देश के साथ आर्थिक संबंध बढ़ाने. दोहरे करारोपण, धन शोधन और आतंकवाद पर रोक लगाने के लिए समझौतों पर दस्तखत हुआ.

पीएम मोदी ने कहा, 'हम ईरान में चाबहार बंदरगाह के जरिए व्यापार और पारगमन संपर्क बनाने पर काम करेंगे'.

मोदी ने जोर देकर कहा कि 'वह और रहमान ने दोनों देशों के बीच आर्थिक संबधों, खास तौर पर व्यापार और निवेश की संभावना और पैमाना बढ़ाने पर सहमति जाहिर की है'.

मोदी ने ताजिकिस्तान को भारत का अहम मित्र और रणनीतिक साझेदार बताया. और कहा कि 'दोनों देश अफगानिस्तान समेत उनके विस्तृत पड़ोस में कई तरह की सुरक्षा चुनौतियों का सामना करते हैं'.

मोदी ने कहा कि भारत और ताजिकिस्तान ने दोनों देशों की सुरक्षा एजेंसियों के बीच सूचनाओं के आदान-प्रदान कर क्षेत्र में आतंकवाद और कट्टरवाद के खिलाफ लड़ाई में सहयोग बढ़ाने का फैसला किया है.

मोदी ने कहा, 'हम इस बात पर सहमत हैं कि अफगानिस्तान में शांति क्षेत्र के लिए काफी महत्वपूर्ण है'.

प्रधानमंत्री ने मध्य एशियाई क्षेत्र में अतिवाद, कट्टरवाद और आतंकवाद के खिलाफ एक आधार के रूप में ताजिकिस्तान की भूमिका की सराहना की.

ताजिकिस्तान के राष्ट्रपति एमोमली रहमान 14 दिसंबर से भारत के चार दिन के दौरे पर आए हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi