S M L

अफगान राजनयिकों को प्रशिक्षण देने के लिए भारत, चीन का संयुक्त कार्यक्रम

अशांत देश में इस तरह की यह पहली परियोजना है, जहां पर चीन अपना प्रभाव बढ़ाने की कोशिश कर रहा है

Updated On: Oct 13, 2018 10:22 PM IST

Bhasha

0
अफगान राजनयिकों को प्रशिक्षण देने के लिए भारत, चीन का संयुक्त कार्यक्रम

भारत और चीन ने अफगानिस्तान के राजनयिकों को प्रशिक्षित करने के लिए पहला संयुक्त कार्यक्रम शुरू किया है. चीन के वुहान शहर में अप्रैल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग के बीच अनौपचारिक वार्ता के दौरान अफगानिस्तान में संयुक्त कार्यक्रम शुरू करने पर सहमति बनी थी.

बीजिंग में भारतीय दूतावास द्वारा शनिवार को किए गए एक ट्वीट के मुताबिक, ‘अफगानिस्तान के लिए भारत और चीन द्वारा पहला संयुक्त कार्यक्रम शुरू हुआ है.’

ट्वीट में कहा गया कि अफगानिस्तान में भारत के राजदूत (विनय कुमार) ने 10 अफगान राजनयिकों का स्वागत किया. सभी अफगान राजनयिक भारत, चीन और अफगानिस्तान के बीच त्रिपक्षीय सहयोग के तहत अफगान राजनयिकों के लिए पहले भारत-चीन संयुक्त प्रशिक्षण कार्यक्रम के वास्ते भारत जाएंगे.

अशांत देश में इस तरह की यह पहली परियोजना है, जहां पर चीन अपना प्रभाव बढ़ाने की कोशिश कर रहा है.

सितंबर महीने में जब अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी भारत यात्रा पर आए थे तभी यह सहमति बनी थी. खबर ये भी थी कि इस बारे में चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से प्रधानमंत्री मोदी ने इस साल अप्रैल में ही पूर्व सहमति ले ली थी. यह पहला मौका है जब भारत-चीन मिलकर अफ़ग़ानिस्तान में कोई संयुक्त कार्यक्रम चलाने वाले हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi