S M L

आज से पाकिस्तान के 'कप्तान' बने इमरान खान, देश के 22वें प्रधानमंत्री के तौर पर ली शपथ

यह शपथ ग्रहण समारोह स्थानीय समय के अनुसार 10 बजकर 15 मिनट पर हुआ. शपथ ग्रहण समारोह से पहले पहले पाकिस्तान के राष्ट्रगान की धुन बजाई गई

Updated On: Aug 18, 2018 04:08 PM IST

FP Staff

0
आज से पाकिस्तान के 'कप्तान' बने इमरान खान, देश के 22वें प्रधानमंत्री के तौर पर ली शपथ

क्रिकेटर से राजनेता बने इमरान खान आज यानी शनिवार को पाकिस्तान के नए वज़ीर-ए-आज़म यानी प्रधानमंत्री बन गए हैं. अब से कुछ देर पहले उन्होंने बतौर देश के 22वें प्रधानमंत्री के रुप में शपथ ली.

यह शपथ ग्रहण समारोह राजधानी इस्लामाबाद में स्थानीय समय अनुसार 10 बजकर 15 मिनट पर हुआ. पाकिस्तान के राष्ट्रपति ममनून हुसैन ने इमरान को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई. शपथ ग्रहण समारोह से पहले पहले पाकिस्तान के राष्ट्रगान की धुन बजाई गई.

शपथ ग्रहण समारोह के बाद इमरान ने दस्तावेज पर हस्ताक्षर किया. इमरान खान ने साल 1996 में अपना कदम राजनीति में रखा. 22 वर्षों के अपने राजनीतिक संघर्षों के बाद उन्होंने शनिवार को देश की 'कप्तानी' संभाली.

इमरान के शपथ ग्रहण समारोह में शरीक होने के लिए भारत के पंजाब राज्य के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू पाकिस्तान पहुंचे हैं. बता दें कि इमरान ने चुनाव जीतने के बाद अपने साथी पूर्व क्रिकेटरों सुनील गावस्कर, कपिल देव और नवजोत सिद्धू को निमंत्रण भेजा था.

Islamabad: Pakistani politician Imran Khan, chief of Pakistan Tehreek-e-Insaf party, shows his marked thumb after casting his vote at a polling station for the parliamentary elections in Islamabad, Pakistan, Wednesday, July 25, 2018. After an acrimonious campaign, polls opened in Pakistan on Wednesday to elect the country's third straight civilian government, a first for this majority Muslim nation that has been directly or indirectly ruled by its military for most of its 71-year history. AP/PTI(AP7_25_2018_000055B)

नेशनल असेंबली के चुनाव में इमरान खान की पीटीआई 116 सीटें जीतकर सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है

नेशनल असेंबली ने इमरान खान को चुना नया प्रधानमंत्री

इससे पहले, शुक्रवार को पाकिस्तानी संसद के निचले सदन नेशनल असेंबली (एनए) में हुए एकतरफा चुनाव में पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के प्रमुख इमरान खान को देश का नया प्रधानमंत्री चुना गया. इमरान ने इस पद के मुकाबले में पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) के प्रमुख शाहबाज शरीफ को मात दी थी.

बिलावल भुट्टो जरदारी की अगुवाई वाली पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी), जिसके पास 54 सीटें हैं, के मतदान में हिस्सा नहीं लेने के फैसले के बाद 15वीं नेशनल असेंबली में चुनाव महज एक औपचारिकता रह गई थी. शाहबाज शरीफ की उम्मीदवारी को लेकर पीपीपी और पीएमएल-एन के बीच मतभेद उभर आए थे.

नेशनल असेंबली के स्पीकर असद कैसर ने ऐलान किया कि क्रिकेटर से नेता बने 65 साल के इमरान को 176 वोट मिले जबकि उनके एकमात्र प्रतिद्वंद्वी और पीएमएल-एन के प्रमुख शाहबाज शरीफ को महज 96 वोट मिले.

संसद में अपने पहले भाषण में इमरान ने ‘पाकिस्तान को लूटने वालों’ के खिलाफ कार्रवाई का इरादा जाहिर किया. उन्होंने कहा, ‘मैं आज अपने वतन से वादा करता हूं कि हम वो तब्दीली लाएंगे जिसके लिए यह मुल्क लंबे समय से कोशिश करता रहा है.’

इमरान ने कहा, ‘हमें इस देश में सख्त जवाबदेही कायम करनी है. मैं वादा करता हूं कि मैं पाकिस्तान को लूटने वालों के खिलाफ कार्रवाई करूंगा. जिस काले धन को सफेद किया गया, मैं उसे वापस लाऊंगा. जो पैसे शिक्षा, स्वास्थ्य और पानी पर खर्च होने चाहिए थे, वो लोगों की जेब में चले गए.’

उन्होंने कहा कि वह ऐसी चुनाव प्रणाली बनाएंगे जिससे कोई भी व्यक्ति भविष्य में चुनावों में खामियां नहीं तलाश पाएगा. इमरान ने कहा, ‘लेकिन कोई मुझे ब्लैकमेल करने की कोशिश नहीं करे.’

सरकार बनाने के लिए नेशनल असेंबली, जिसमें 342 सदस्य हैं, में कुल 172 वोटों की जरूरत होती है. पिछले महीने की 25 तारीख को हुए आम चुनाव में इमरान खान की पीटीआई 116 सीटें जीतकर सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी.

पाकिस्तान में 25 जुलाई को हुए आम चुनावों के 3 सप्ताह बाद इमरान खान नए प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे. फिलहाल देश में चुनाव कराने के लिए गठित कामचलाऊ सरकार काम कर रही है.

(भाषा से इनपुट)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi