S M L

‘नया पाकिस्तान’ में अल्पसंख्यकों को मिलेगा बराबरी का दर्जा: इमरान

इमरान ने ट्वीट किया, ‘नया पाकिस्तान कायद-ए-आजम का पाकिस्तान होगा और सुनिश्चित करेगा कि हमारे अल्पसंख्यकों के साथ बराबरी का व्यवहार हो और भारत जैसा कुछ न हो’

Updated On: Dec 26, 2018 10:06 AM IST

FP Staff

0
‘नया पाकिस्तान’ में अल्पसंख्यकों को मिलेगा बराबरी का दर्जा: इमरान

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने एक हफ्ते के अंदर दूसरी बार भारत विरोधी बयान दिया है. उन्होंने अपने देश और भारत में अल्पसंख्यकों के हालात की तुलना करते हुए कहा कि भारत में जो हो रहा है उसकी तुलना में ‘नया पाकिस्तान’ में अल्पसंख्यकों को बराबरी का दर्जा मिलेगा.

मंगलवार को पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना की जयंती के मौके पर उन्होंने कहा कि जिन्ना ने पाकिस्तान के ‘लोकतांत्रिक, न्यायपूर्ण और सद्भावनापूर्ण’ राष्ट्र बनने का सपना देखा था.

इमरान खान ने ट्वीट किया, ‘नया पाकिस्तान कायद-ए-आजम (जिन्ना) का पाकिस्तान होगा और सुनिश्चित करेगा कि हमारे अल्पसंख्यकों के साथ बराबरी का व्यवहार हो और भारत जैसा कुछ न हो.’

उन्होंने कहा कि जिन्ना चाहते थे कि पाकिस्तान में अल्संख्यक भी बराबरी का दर्जा पाएं. यह याद रखा जाना चाहिए कि उनका शुरुआती राजनीतिक जीवन हिंदू-मुसलमान एकता के लिए था.

इमरान ने कहा कि अलग मुसलमान राष्ट्र के लिए संघर्ष उस समय शुरू हुआ जब उन्हें एहसास हुआ कि हिंदू बहुलता वाले देश में मुसलमानों के साथ बराबरी का व्यवहार नहीं होगा.

इमरान ने अल्पसंख्यकों को लेकर पहले भी भारत के खिलाफ बयान दिया था 

इससे पहले पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने बीते शनिवार को कहा था कि वो नरेंद्र मोदी सरकार को ‘दिखाएंगे’ कि ‘अल्पसंख्यकों से कैसे व्यवहार करते हैं?’ उन्होंने यह बयान फिल्म अभिनेता नसीरुद्दीन शाह की भारत में भीड़ की हिंसा की बढ़ती घटनाओं पर की गई टिप्पणी को लेकर पैदा हुए विवाद के बीच दिया था.

इमरान के इस बयान की नसीरुद्दीन शाह, असदुद्दीन ओवैसी सरीखे मुस्लिमों ने कड़ी आलोचना की थी. उन्होंने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री को अपने देश में अल्पसंख्यकों के खराब हालात की फिक्र करने की नसीहत दी थी.

(भाषा से इनपुट)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi