S M L

इमरान की कैबिनेट में मुशर्रफ के 'हमदर्द'; भारत को धमकाने वाली शिरीन भी बनी मंत्री

खान की कैबिनेट में शामिल कम से कम 12 सदस्य मुशर्रफ के शासन के दौरान भी प्रमुख पद संभाल चुके हैं. नई कैबिनेट में मुशर्रफ के पूर्व प्रवक्ता, उनके अटॉर्नी और कोर टीम के कई सदस्य शामिल हैं

Updated On: Aug 19, 2018 12:56 PM IST

Bhasha

0
इमरान की कैबिनेट में मुशर्रफ के 'हमदर्द'; भारत को धमकाने वाली शिरीन भी बनी मंत्री

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने अपनी कैबिनेट का ऐलान कर दिया है जिसमें 21 सदस्यों को शामिल किया गया है. इनमें से ज्यादातर लोग वे हैं जो पूर्व सैन्य तानाशाह जनरल (रिटायर्ड) परवेज मुशर्रफ की सरकार में प्रमुख पदों पर रहे थे.

पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के प्रवक्ता फवाद चौधरी ने बताया कि घोषित किए गए 21 नामों में से 16 के पास मंत्री पद होगा जबकि पांच अन्य प्रधानमंत्री के सलाहकार के तौर पर काम करेंगे. चौधरी के ट्विटर अकाउंट पर साझा की गई सूची के मुताबिक शाह महमूद कुरैशी को विदेश मंत्री, परवेज खट्टक को रक्षा मंत्री और असद उमर को वित्त मंत्री बनाया गया है.

पार्टी के उपाध्यक्ष कुरैशी, पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी की सरकार के दौरान 2008 से 2011 तक विदेश मंत्री रहे थे.

असद उमर पूर्व लेफ्टिनेंट जनरल मोहम्मद उमर के बेटे हैं जो भारत के साथ 1971 के युद्ध के दौरान पाकिस्तानी सेना का हिस्सा रहे थे. वहीं खट्टक 2013 से 2018 तक खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के मुख्यमंत्री रहे हैं. नई कैबिनेट के मंत्री सोमवार को राष्ट्रपति आवास में शपथ लेगा.

‘द न्यूज’ की खबर के मुताबिक खान की कैबिनेट में शामिल कम से कम 12 सदस्य जनरल (रिटायर्ड) मुशर्रफ के शासन के दौरान भी प्रमुख पद संभाल चुके हैं. खबर में बताया गया कि नई कैबिनेट में मुशर्रफ के पूर्व प्रवक्ता, उनके अटॉर्नी और कोर टीम के कई सदस्य शामिल हैं.

रावलपिंडी के शेख राशिद को रेल मंत्री नियुक्त किया गया है. मुशर्रफ शासन काल के दौरान भी उनके पास यही मंत्रालय था. तीन महिलाएं शिरीन मजारी, जुबैदा जलाल और फहमीदा मिर्जा भी कैबिनेट का हिस्सा हैं. पाकिस्तान के संविधान के मुताबिक संघीय कैबिनेट में नेशनल एसेंबली और सीनेट की कुल संख्या के 11 प्रतिशत से ज्यादा मंत्री नहीं होने चाहिए.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi