live
S M L

कोका कोला कैन में मिला मानव मल, जासूस पता कर रहे किसने किया ये 'गंदा काम'

कंपनी ने प्रभावित कैन को जब्त कर नाइट शिफ्ट की प्रोसेसिंग यूनिट को सस्पेंड कर दिया है.

Updated On: Mar 29, 2017 11:41 AM IST

FP Staff

0
कोका कोला कैन में मिला मानव मल, जासूस पता कर रहे किसने किया ये 'गंदा काम'

कोका कोला ने नॉर्थ आयरलैंड की अपनी एक फैक्ट्री में कोल्ड ड्रिंक के कैन में ह्यूमन वेस्ट मिलने की जांच के लिए पुलिस की सहायता मांगी है.

मंगलवार को नार्थ आयरलैंड की पुलिस सर्विस ने इसकी शिकायत मिलने की जानकारी देते हुए कहा कि उन्होंने इसकी जांच शुरू कर दी है.

कोका कोला ने पिछले हफ्ते मशीन बंद होने के बाद नाइट शिफ्ट में काम करने वाले प्रोसेसिंग यूनिट को निलंबित कर दिया है.

दुनिया की सबसे बड़ी सॉफ्ट ड्रिंक कंपनी ने कहा कि उसने ऐसे सभी कैन को जब्त कर लिया है.

इस कारण बाजार में बेचे जा रहे उसके दूसरे कोई भी उत्पाद प्रदूषित नहीं हैं. कंपनी की फैक्ट्री में बिना ढक्कन वाले कैन आते हैं जहां उनमें सॉफ्ट ड्रिंक भरा जाता है और उसे बंद करने के बाद पूरे नॉर्थ आयरलैंड में बेचा जाता है.'

पीएसएनआई के एक प्रवक्ता ने कहा कि, 'जासूस लिस्बर्न इलाके में मौजूद इस फैक्ट्री के कैंपस में इस घटना की जांच कर रहे हैं. जांच अभी शुरुआती दौर में है और फिलहाल इस बारे में और अधिक जानकारी नहीं है.'

coca cola

कोका कोला दुनिया की सबसे बड़ी सॉफ्ट ड्रिंक बनाने वाली कंपनी है

सुरक्षा और गुणवत्ता पर काफी गंभीर

कंपनी ने एक बयान जारी कर बेलफास्ट टेलीग्राफ को कहा कि, 'कोका कोला अपने उत्पादों की सुरक्षा और उसकी गुणवत्ता को काफी गंभीरता से लेता है.'

बयान में आगे कहा गया, 'लिस्बर्न के हमारे नॉकमोर हिल प्लांट में खाली कैन में गंदगी की इस घटना के बारे में हम जानते हैं. इस मामले को हम काफी गंभीरता से ले रहे हैं और पीएसएनआई के सहयोग से कड़ाई से जांच कर रहे हैं.'

'हमने अपनी कड़ी क्वालिटी और उच्च स्तरीय चेकिंग प्रणाली के जरिए इस समस्या का फौरन पता लगा लिया. प्रभावित प्रोडक्शन बैच से बनने वाले सभी उत्पादों को तुरंत जब्त कर लिया गया और ये सुनिश्चित किया गया कि, उन्हें बेचा नहीं जाए. गलती की ये इकलौती घटना है जिसका बेचे जा रहे कंपनी के दूसरे उत्पादों पर कोई असर नहीं पड़ा है.'

फूड स्टैंडर्ड एजेंसी ने कहा कि, 'ह्यूमन वेस्ट वाले कोई भी कैन नॉर्थ आयरलैंड के बाजारों तक नहीं पहुंचा है. उन्होंने आगे कहा कि पीएसएनआई और लिस्बर्न एंड कैस्टलरीच सिटी काउन्सिल का पर्यावरण स्वास्थ विभाग इस मामले की जांच कर रहा है.'

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi