S M L

लगातार तीसरे साल अमेरिका में बढ़ा हेट क्राइम, इस साल 17% ज्यादा बढ़े मामले

पिछले कुछ सालों में अमेरिका में दूसरे नस्ल और धर्म के लोगों पर नस्लीय भेदभाव और हमलों की प्रवृत्ति बढ़ी है

Updated On: Nov 14, 2018 04:54 PM IST

FP Staff

0
लगातार तीसरे साल अमेरिका में बढ़ा हेट क्राइम, इस साल 17% ज्यादा बढ़े मामले

अमेरिका की फेडरल ब्यूरो ऑफ एजेंसी (FBI) ने एक रिपोर्ट जारी कर बताया है कि अमेरिका में लगातार तीसरे साल भी हेट क्राइम में वृद्धि हुई है. एफबीआई की रिपोर्ट के मुताबिक, वहां पिछले साल से 17 प्रतिशत ज्यादा इन घटनाओं में बढ़ोत्तरी आई है.

न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, एजेंसी ने बताया है कि अमेरिका में 2017 में हेट क्राइम के करीब 7,100 मामले सामने आए. इन मामलों में पांच में से लगभग तीन मामले नस्लीय हमले रहे और बाकी दो हमले धर्म और सेक्सुअल ओरियंटेशन के आधार पर किए गए.

मंगलवार को जारी इस रिपोर्ट में बताया गया कि सबसे ज्यादा 1,678 हेट क्राइम यहूदियों के खिलाफ अंजाम दिया गया.  इनमें सिखों के खिलाफ 24, हिंदुओं के खिलाफ 15 और मुस्लिमों के खिलाफ 300 से ज्यादा हेट क्राइम की घटनाएं हुईं. साथ ही बौद्धों के खिलाफ भी घृणा अपराध के नौ मामले हुए. वहीं लगभग आधे हमले अकेले अश्वेत लोगों के खिलाफ किए गए हैं.

अमेरिका में तनाव भरे राजनीतिक माहौल में बढ़ते हेट क्राइम की वजह से कई लॉ एन्फोर्समेंट एजेंसियां भी सक्रिय हुई हैं, जिनकी वजह से एफबीआई के पास ऐसे केस आ रहे हैं और दोषियों की पहचान हो रही है.

वर्तमान में एफबीआई को हेट क्राइम की रिपोर्ट देना अपनी इच्छा पर निर्भर करता है. लेकिन पिछले साल 2016 से लगभग एक हजार ज्यादा एजेंसियों ने एफबीआई के पास हेट क्राइम पर अपने डेटा एफबीआई को दिया. लेकिन अब एफबीआई भेदभाव की इस घटनाओं को रिपोर्ट करने के लिए ज्यादा औपचारिकता शुरू करने जा रही है. एफबीआई ने कहा है कि वो अगले साल से कई लॉ एन्फोर्समेंट एजेंसियों को ऐसे केस की रिपोर्टिंग और आरोपियों के पहचान को लेकर कैसे बेहतर काम करना है, इसपर ट्रेनिंग देगी. अमेरिका के जस्टिस डिपार्टमेंट ने भी हेट क्राइम्स को लेकर एक नई वेबसाइट शुरू की है.

पिछले कुछ सालों में अमेरिका में दूसरे नस्ल और धर्म के लोगों पर नस्लीय भेदभाव और हमलों की प्रवृत्ति बढ़ी है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi