विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

द ग्रेटेस्ट शो ऑन अर्थ: रिंगलिंग ब्रदर्स का 146 साल पुराना सर्कस बंद

धरती के सबसे महान शो का स्मार्टफोन की दुनिया में दर्शक जुटाना मुश्किल हो गया था

FP Staff Updated On: May 28, 2017 11:09 PM IST

0
द ग्रेटेस्ट शो ऑन अर्थ: रिंगलिंग ब्रदर्स का 146 साल पुराना सर्कस बंद

146 साल से चल रहे एक सर्कस को आखिरकार बंद कर दिया गया. तमाम मुश्किलों के बावजूद वो सर्कस 146 साल तक चलता रहा, लेकिन अब स्मार्टफोन की दुनिया में उसके लिए दर्शक जुटाने मुश्किल हो गए थे.

उसे धरती का सबसे महान शो कहा जाता था, यही वजह है कि जब उस सर्कस का आखिरी शो हुआ तो विदाई देने के लिए दर्शकों का तांता लग गया.

146 साल से ये सर्कस घूम-घूमकर दुनिया के अलग-अलग हिस्सों में अपना शो कर रहा था, लेकिन 21 मई 2017 को अपना आखिरी शो दिखाने के बाद ये हमेशा के लिए बंद हो गया.

Ringling_Barnum_bros_&_Baley_Circus

'द ग्रेटेस्ट शो ऑन अर्थ'

दुनिया के सबसे पुराने सर्कसों में शुमार रिंगलिंग ब्रदर्स एंड बर्नम एंड बेली सर्कस को 'द ग्रेटेस्ट शो ऑन अर्थ' के तौर जाना जाता है, यानी धरती का सबसे महान शो और इसे ये खिताब यूं ही नहीं मिल गया.

दरअसल बीते 146 साल में इस सर्कस ने मनोरंजन की दुनिया में जो मुकाम हासिल किया है, उसकी कोई बराबरी नहीं कर सकता है. इस सर्कस की स्थापना 1871 में पांच भाइयों ने मिलकर की थी, जिन्हें रिंगलिंग ब्रदर्स के नाम से जाना जाता है.

90a99076dda4a7239ed61327f2f4c977

रिंगलिंग ब्रदर्स एंड बर्नम एंड बेली सर्कस

अमेरिका के विस्कोंसिन में शुरू हुआ ये सर्कस उस वक्त मनोरंजन का सबसे बड़ा केंद्र बन चुका था, फिर 1919 में रिंगलिंग ब्रदर्स ने बर्नम एंड बेली सर्कस को खरीद लिया और फिर सर्कस का पूरा नाम हुआ 'रिंगलिंग ब्रदर्स एंड बर्नम एंड बेली सर्कस.'

उस वक्त से अब तक दुनिया पूरी तरह बदल चुकी है, लेकिन तमाम बदलावों और अड़चनों के बावजूद ये सर्कस चलता रहा, मगर अब ये सफर थम चुका है.

दर्शकों का तांता

इस साल की शुरुआत में ही ऐलान कर दिया गया था कि मई में रिंगलिंग ब्रदर्स सर्कस का आखिरी शो होगा, लेकिन 21 मई को जब न्यूयॉर्क के यूनियनडेल में इसका आखिरी शो शुरू हुआ तो सर्कस दर्शकों से खचाखच भर गया. 146 साल पुरानी परंपरा को अंतिम विदाई देने के लिए दर्शकों का तांता लग गया.

17218542761_990e163239_b

यहां आने वालों में दर्शकों में कई ऐसे थे, जो बचपन में माता-पिता के साथ सर्कस देखने आए थे. अब वो अपने बच्चों के साथ इस महान शो का हिस्सा बनने पहुंचे थे. वो आखिरी बार अपने परिवार के साथ एक साथ बैठकर उस रोमांच का लुत्फ उठाना चाहते थे, जो अब सिर्फ किस्से-कहानियों में सुनाई देगा.

हर किसी की जुबान पर बस एक ही लफ्ज था

सर्कस की टीम ने अपने आखिरी शो को सबसे यादगार बनाने में कोई कसर बाकी नहीं रखी. बच्चे खिलखिला रहे थे, तो बड़े भी अपनी मुस्कान रोक नहीं पा रहे थे.

तालियों की गड़गड़ाहट खत्म होने का नाम ही नहीं ले रही थी और जब ये शो अपने अंतिम चरण में पहुंचा तो सर्कस के कलाकारों के साथ-साथ दर्शकों की आंखें भी नम हो चुकी थीं. लोगों ने खड़े होकर इस सर्कस के लिए तालियां बजाईं. इस भावुक लम्हे में हर किसी की जुबान पर बस एक ही लफ्ज था...शुक्रिया

न्यूज़ 18 साभार

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi