S M L

दुनिया को 'मॉर्डन एटलस' देने वाले अब्राहम ओर्टेलियस को गूगल ने डूडल बनाकर किया याद

इस खास दिन को मनाते हुए गूगल ने एक डूडल बनाया है जसमें मॉर्डन एटलस दर्शाया गया है. गूगल ने यह डूडल अब्राहम ओर्टेलियस को श्रद्धांजली देते हुए बनाया है

FP Staff Updated On: May 20, 2018 12:15 PM IST

0
दुनिया को 'मॉर्डन एटलस' देने वाले अब्राहम ओर्टेलियस को गूगल ने डूडल बनाकर किया याद

आज का दिन बहुत खास है. आज ही के दिन, लगभग 400 साल पहले दुनिया को अपना पहला मॉर्डन एटलस मिला था. इसको देने वाले थे अब्राहम ओर्टेलियस, जिन्होंने इसका नाम दिया था 'Theatrum Orbis Terrarum' मतलब थियेटर ऑफ द वर्ल्ड. यह एटलस 20 मई, 1570 को दुनिया के सामने पेश किया गया था.

इस खास दिन को मनाते हुए सर्च इंजन गूगल ने एक डूडल बनाया है जसमें मॉर्डन एटलस को दर्शाया गया है. गूगल ने यह डूडल अब्राहम ओर्टेलियस को श्रद्धांजली देते हुए बनाया है. गूगल ने ओर्टेलियस को सबसे पहले नक्शाकारों में से एक बताया है जिनके एटलस से पूरे ग्लोबल व्यू के समझने में मदद मिली.

ओर्टेलियस का जन्म 4 अप्रैल, 1527 को बेल्जियम में हुआ था. वो बचपन से ही कई भाषाओं के जानकार थे. उन्होंने क्लासिक साहित्य की पढ़ाई की और विज्ञान के विकास से हमेशा खुद को जोड़े रखा. उन्होंने अपनी जिंदगी में सबसे पहला मानचित्र मिस्र का बनाया था. इसके साथ-साथ एशिया, स्पेन और रोमन साम्राज्य के नक्शे भी उन्होंने बनाए थे.

मॉर्डन एटलस के रूप में दुनिया को उनकी यह देन कई मायनों में महत्वपूर्ण है. मानता के विकास के लिए यह एक बहुत बड़ी उप्लब्धि थी. ओर्टेलियस ने यह एटलस उस वक्त पेश किया जब दुनिया भर में नए देशों की खोज की जा रही थी. ऐसे में उन लोगों के लिए यह एटलस काफी महत्वपूर्ण साबित हुआ जो नए देशों की खोज में निकले थे. इस एटलस में कुल 57 मानचित्र थे. जिससे लोगों को एक-दूसरे के साथ जुड़ने में काफी आसानी हुई. इस एटलस का आखरी एडिशन 1622 को प्रकाशित हुआ जिसमें कुल 167 मानचित्र थे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi