S M L

पाकिस्तान: मनी लॉन्ड्रिंग मामले में जरदारी, उनकी बहन भगोड़ा घोषित

संघीय जांच एजेंसी ने जरदारी और उनकी बहन फरयाल तालपुर सहित 20 संदिग्धों को 35 अरब रुपए धन शोधन के मामले में भगोड़ा घोषित किया है

FP Staff Updated On: Jul 22, 2018 09:39 AM IST

0
पाकिस्तान: मनी लॉन्ड्रिंग मामले में जरदारी, उनकी बहन भगोड़ा घोषित

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के बाद अब देश के पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी भी भ्रष्टाचार के मामले में घिरते नजर आ रहे हैं. संघीय जांच एजेंसी (एफएआई) ने जरदारी और उनकी बहन सहित 20 संदिग्धों को 35 अरब रुपए धन शोधन (मनी लॉन्ड्रिंग) के मामले में भगोड़ा घोषित किया है.

एक्सप्रेस टिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार एफबीआई ने एक मशहूर बैंकर और आसिफ अली जरदारी के करीबी सहयोगी हुसैन लवई और अन्य संदिग्धों के खिलाफ शनिवार को अदालत में चालान पेश किया.

पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के सह-अध्यक्ष और उनकी बहन फरयाल तालपुर के अलावा एक निजी बैंक के अध्यक्ष सहित 18 अन्य को चालान में भगोड़ा घोषित किया गया.

जरदारी पर आरोप है कि उन्होंने फर्जी खाते खोलकर इनका उपयोग कथित रूप से रिश्वत और अवैध धन को खपाने के लिए किया था. बता दें कि संघीय जांच एजेंसी ने यह कार्रवाई ऐसे समय में की है, जब पाकिस्तान में 3 दिन बाद यानी 25 जुलाई को आम चुनाव होने हैं.

पाकिस्तान की जवाबदेही अदालत ने हाल ही में नवाज शरीफ, उनकी बेटी मरयम और उनके दामाद को भ्रष्टाचार के मामले में दोषी ठहराते हुए क्रमश: 10 साल, 7 साल और 1 साल की सजा सुनाई है. नवाज शरीफ और मरयम को विदेश से लौटने के बाद पिछले हफ्ते लाहौर हवाईअड्डे से गिरफ्तार कर लिया गया था. दोनों को अभी रावलपिंडी स्थित अडियाला जेल में रखा गया है.

(भाषा से इनपुट)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
'हमारे देश की सबसे खूबसूरत चीज 'सेक्युलरिज़म' है लेकिन कुछ तो अजीब हो रहा है'- Taapsee Pannu

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi