In association with
S M L

मिस्र में मस्जिद में हुए हमले में मरने वाले लोगों की संख्या 305 हुई

जुमे की नमाज के दौरान भारी हथियारों से लैस आतंकियों ने अल-अरीश शहर की अल-रौदा मस्जिद में बमबारी और गोलीबारी की

Bhasha Updated On: Nov 25, 2017 06:45 PM IST

0
मिस्र में मस्जिद में हुए हमले में मरने वाले लोगों की संख्या 305 हुई

मिस्र के अशांत उत्तरी सिनाई क्षेत्र में एक मस्जिद पर हुए जानलेवा आतंकी हमले में मरने वालों की संख्या बढ़कर 305 हो गई.

मिस्र के सरकारी अभियोजक नबील सादिक ने एक बयान में कहा कि मृतकों में 27 बच्चे शामिल हैं.

सादिक ने कहा कि हमले में 128 लोग घायल हो गए. यह देश में हुआ अब तक का सबसे घातक आतंकी हमला है.

जुमे की नमाज के दौरान भारी हथियारों से लैस आतंकियों ने अल-अरीश शहर की अल-रौदा मस्जिद में बमबारी और गोलीबारी की.

आईएस का झंडा लिए थे आतंकी

बयान के अनुसार हमले में 25 से 30 आतंकी शामिल थे और उन्होंने इस्लामिक स्टेट का झंडा लहराया.

इसमें बताया गया कि आतंकियों ने हमले में पांच वाहनों का इस्तेमाल किया और नमाजियों के सात वाहनों में आग लगा दी.

घायल लोगों के अनुसार कुछ आतंकी नकाबपोश थे और सब ने सेना जैसी वर्दी पहनी थी.

स्थानीय लोगों का कहना है कि इस मस्जिद में सूफी विचार को मानने वाले लोग आते थे. इस्लामिक स्टेट सूफियों को काफिर मानता है.

घायलों को अस्पताल पहुंचाने के लिए करीब 50 एंबुलेंस घटनास्थल पर पहुंचे.

अब तक किसी ने भी हमले की जिम्मेदारी नहीं ली और आतंकियों के साथ क्या हुआ, इसे लेकर भी कोई जानकारी नहीं है. मिस्र के उत्तरी सिनाई में जनवरी, 2011 की क्रांति के बाद से ही कई हिंसक हमले हुए हैं. जनवरी, 2011 में हुई क्रांति से राष्ट्रपति हुस्नी मुबारक की सत्ता चली गयी थी.

साल 2013 में मोहम्मद मुर्सी को राष्ट्रपति पद से अपदस्थ किए जाने के बाद उत्तरी सिनाई में हमलावरों ने पुलिस और सेना को निशाना बनाया. इसके बाद से 700 से अधिक सुरक्षाकर्मी मारे गए हैं. सेना ने इलाके में सैन्य अभियान चलाया और इस दौरान संदिग्धों को गिरफ्तार किया और आतंकवादियों के मकानों को ध्वस्त कर दिया. मिस्र में इस साल कई आतंकी हमले हुए हैं.

बीते 26 मई को मिस्र के मध्य क्षेत्र में ईसाई समुदाय के लोगों को ले जा रही बस पर बंदूकधारियों ने हमला किया था जिसमें कम से कम 28 लोग मारे गए थे और 25 अन्य घायल हो गए.

इससे पहले स्कंदरिया और टांटा में गिरजाघरों को निशाना बनाकर बीते नौ अप्रैल को दो आत्मघाती हमले हुए थे जिनमें 46 लोग मारे गए थे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
गणतंंत्र दिवस पर बेटियां दिखाएंगी कमाल!

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi