S M L

डोनाल्ड ट्रंप की मीडिया सचिव को रेस्तरां से क्यों बाहर निकाला गया?

राष्ट्रपति की क्रूर नीतियों का बचाव करने वालों को मैं और मेरे कर्मचारी स्वीकार नहीं कर सकते

FP Staff Updated On: Jun 24, 2018 05:09 PM IST

0
डोनाल्ड ट्रंप की मीडिया सचिव को रेस्तरां से क्यों बाहर निकाला गया?

डोनाल्ड ट्रंप की मीडिया सचिव सारा सैंडर्स को वर्जीनिया के एक छोटे से रेस्तरां की मालिक स्टेफनी विलकिंसन ने अपने रेस्तरां में उन्हें सर्विस देने से मना कर दिया. इतना ही नहीं विलकिंसन ने उन्हे बाहर का रास्ता भी दिखा दिया. रेस्तरां का नाम रेड हेन बताया गया है. इस घटना की जानकारी वहीं के एक वेटर ने फेसबुक पर दी थी.

अपने फेसबुक पोस्ट में उन्होंने लिखा कि हमने सैंडर्स को केवल दो मिनट की सेवा दी. उसके बाद सारा और उनके साथ आए लोगों को बाहर का रास्ता दिखा दिया. बाद में सैंडर्स ने इस घटना की पुष्टि करते हुए एक ट्वीट किया. उन्होंने ट्वीट में कहा, 'कल रात मुझे लेक्सिंग्टन में स्थित रेड हेन रेस्त्रां ने वहां से बाहर निकाल दिया क्योंकि मैं ट्रंप प्रशासन में काम करती हूं. मैं विन्रमतापूर्वक वहां से निकल गई. रेस्तरां के मालिक का यह कदम मेरे व्यवहार से ज्यादा कुछ कहता है. मैं हमेशा लोगों के साथ अच्छा व्यवहार करती हूं, यहां तक कि उन लोगों के साथ भी, जिनसे मैं सहमत नहीं रहती हूं. और आदर के साथ ऐसा करना जारी  रखूंगी.'

आखिर क्या थी वजह?

रेस्तरां की मालिक स्टेफनी विल्किंसन से जब वाशिंगटन पोस्ट ने इस रवैये के पीछे का कारण जानना चाहा तो स्टेफनी ने कहा, 'जब सैंडर्स हमारे रेस्तरां आई थी तो मैं उस वक्त अपने घर में थी. रेस्तरां के कर्मचारियों का मुझे कॉल आया. उन्होंने पूछा कि सैंडर्स आई हैं, हम क्या करें?'

उन्होंने कहा, 'मैं विश्वास नहीं कर पा रही थी इसलिए रेस्तरां की तरफ तुरंत निकली. सैंडर्स वाकई में अंदर बैठी थीं. मेरे कर्मचारी मेरी तरफ ऐसे देख रहे थे कि मैं कुछ निर्देश दूंगी. असल में हमारे रेस्तरां के ज्यादातर कर्मचारी समलैंगिक हैं और सारा सैंडर्स ने सशस्त्र बलों से किन्नरों को अलग रखने की ट्रंप की इच्छा का बचाव किया था.'

उन्होंने कहा, इसके अलावा वो प्रवासी अभिभावकों से उनके बच्चों को अलग कर देने की ट्रंप की नीतियों का भी बचाव करती दिखीं थी. ऐसे में राष्ट्रपति की क्रूर नीतियों का बचाव करने वालों को मैं और मेरे कर्मचारी स्वीकार नहीं कर सकते. सो मैेंने अपने कर्मचारियों से पूछा कि क्या मैं उन्हें बाहर निकल जाने को कह दूं और अगले ही सेकंड उन्होंने हां कह दिया.' जब पूरे अमेरिका में डोनाल्ड ट्रंप की लहर चल रही थी, लेक्सिंगटन एक ऐसा शहर था जिसने चुनाव में ट्रंप के खिलाफ वोट किया था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi