S M L

ट्रंप के शरणार्थी बैन का विरोध करने पर अटॉर्नी जनरल बर्खास्त

सैली येट्स ने इस फैसले को अन्यायपूर्ण बताते हुए इसका बचाव करने से इनकार कर दिया था.

FP Staff Updated On: Jan 31, 2017 09:51 AM IST

0
ट्रंप के शरणार्थी बैन का विरोध करने पर अटॉर्नी जनरल बर्खास्त

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक और सख्त कदम उठाते हुए कार्यकारी अटॉर्नी जनरल सैली येट्स को उनके पद से हटा दिया है. येट्स ने कहा था कि वह ट्रंप के शरणार्थियों को बैन करने के फैसले का बचाव नहीं करेंगी. साथ ही उन्होंने ट्रंप के इस फैसले का बचाव कर रहे जस्टिस डिपार्टमेंट के अधिकारियों को फटकार भी लगाई थी.

अटॉर्नी जनरल अमेरिका सरकार का सबसे बड़ा कानूनी अधिकारी होता है जिसपर सरकार के कानून लागू करने की जिम्मेदारी होती है.

वाइट हाउस ने सोमवार को एक बयान जारी कर कहा, 'येट्स ने अमेरिकी नागरिकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने वाले कानून को लागू करने से इनकार कर जस्टिस डिपार्टमेंट को धोखा दिया है.'

यह भी पढ़ें: पाकिस्तान के लिए भी दरवाजे बंद करने की सोच रहा है अमेरिका

वाइट हाउस के बयान में ओबामा की ओर से नियुक्त की गई येट्स को ‘बॉर्डर संबधी और अवैध इमिग्रेशन संबंधी मामलों में कमजोर’ बताया गया है.

डेमोक्रेटिक येट्स ने सोमवार को जस्टिस अधिकारियों को राष्ट्रपति ट्रंप के शरणार्थियों पर बैन लगाने के विवादित फैसले का बचाव न करने का आदेश दिया था. उनके इस आदेश के बाद कुछ एडमिनिस्ट्रेशन अधिकारियों ने भी ट्रंप के इस फैसले से दूरी बना ली थी.

येट्स ने एक खत जारी करते हुए कहा था, ‘न्यायालय में अपने पद और शपथ के अनुसार मैं इस बात को सुनिश्चित करने के लिए जिम्मेदार हूं कि हम हमेशा न्याय और सही पक्ष के साथ खड़े हों’.

यह भी पढ़ें: ट्रंप को झटका, जज ने रोका शरणार्थियों को बाहर निकालने का आदेश

येट्स ने आगे लिखा, ‘फिलहाल मुझे नहीं लगता कि इस आदेश के साथ खड़े होना हमारी जिम्मेदारियों के अनुरूप है. और मुझे ये भी नहीं लगता कि ये आदेश कहीं से भी न्यायपूर्ण है.’

डाना बॉन्टे (फोटो.विकीकॉमन्स)

डाना बॉन्टे (फोटो.विकीकॉमन्स)

राष्ट्रपति ट्रंप ने वर्जीनिया के पूर्वी जिले के अटॉर्नी डाना बॉन्टे को अस्थायी तौर पर येट्स के पद पर नियुक्त किया है. ट्रंप प्रशासन ने नए अटॉर्नी जनरल के रूप में जेफ सैसों को नियुक्त किया है लेकिन अभी उनकी नियुक्ति पर सीनेट की मुहर लगनी बाकी है.

राष्ट्रपति ट्रंप ने पिछले शुक्रवार ही सात मुस्लिम-प्रधान देशों के नागरिकों पर 90 दिनों तक अमेरिका में प्रवेश पर रोक लगा दिया था. तब से ही इस फैसले का विरोध अमेरिका सहित दुनियाभर में विरोध हो रहा है.

(न्यूज18 से साभार)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
International Yoga Day 2018 पर सुनिए Natasha Noel की कविता, I Breathe

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi