S M L

ट्रंप ने रूसी जांच में बड़े खुलासों के बाद सांठगांठ से किया इनकार, लेकिन सेक्स स्कैंडल पर साधी चुप्पी

ट्रंप ने उन दावों पर कोई टिप्पणी नहीं की जिनमें उन पर व्हाइट हाउस के अपने अभियान के दौरान संभावित सेक्स स्कैंडल को दबाने के लिए दो महिलाओं को सीधे तौर पर रुपए देने की पेशकश की थी

Updated On: Dec 09, 2018 02:22 PM IST

Bhasha

0
ट्रंप ने रूसी जांच में बड़े खुलासों के बाद सांठगांठ से किया इनकार, लेकिन सेक्स स्कैंडल पर साधी चुप्पी

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शनिवार को एक बार फिर अपने राष्ट्रपति चुनाव अभियान के दौरान रूसी साठगांठ से इनकार किया है, लेकिन उन दावों पर कोई टिप्पणी नहीं की जिनमें उन पर व्हाइट हाउस के अपने अभियान के दौरान संभावित सेक्स स्कैंडल को दबाने के लिए दो महिलाओं को सीधे तौर पर रुपए देने की पेशकश की थी.

अमेरिका में वर्ष 2016 में हुए राष्ट्रपति चुनाव के दौरान रूसी हस्तक्षेप को लेकर विशेष वकील रॉबर्ट मूलर की जांच के सिलसिले में शुक्रवार को अदालत में दायर कई दस्तावेजों को लेकर ट्रंप ने एक बार फिर संवाद के अपने पसंदीदा तरीके ट्विटर का रुख किया.ट्रंप ने कहा, ‘दो साल और लाखों पन्नों के दस्तावेज के बाद भी, कोई साठगांठ नहीं.’

इन दस्तावेजों में रूसी दखल के साक्ष्यों का कोई खुलासा होता नहीं दिख रहा लेकिन उनसे कुछ नई जानकारियां मिली हैं जिसे मूलर की टीम देख रही है. इसके बाद उन्होंने पत्रकारों से कहा,‘हम जो पढ़ रहे हैं उससे खुश हैं. जो भी हो कोई सांठगांठ नहीं हुई. ऐसा कभी नहीं हुआ.अभियान में रूस से मदद आखिरी चीज होगी जो मैं चाहूंगा.

महिलाओं को खामोश रखने के लिए ट्रंप ने की थी रुपयों की पेशकश

संघीय अभियोजकों ने सीधे तौर इस बात के संकेत दिए थे कि ट्रंप ने उन दो महिलाओं को खामोश रखने के लिए धन देने के प्रयास किए थे जिन्होंने उनके साथ संबंधों का दावा किया था.अभियोजकों ने कहा था कि उन्होंने अपने तत्कालीन अटॉर्नी जनरल माइकल कोहेन को इन महिलाओं को चुप रहने के लिये रुपयों की पेशकश करने को कहा था.

न्यूयॉर्क के अभियोजकों ने कहा, ‘दोनों भुगतानों के संबंध में, कोहेन ने 2016 के राष्ट्रपति चुनाव को प्रभावित करने के इरादे से कार्य किया.’ उन्होंने ट्रंप की ओर इशारा करते हुए कहा कि कोहेन ने खुद दोनों भुगतान की बात स्वीकार कर ली है. उन्होंने किसी एक व्यक्ति के निर्देश पर समन्वय के साथ काम किया.

इस भुगतान का रूसी जांच से कोई लेना-देना नहीं है, लेकिन अभियोजकों ने कोहेन के ‘व्यापक और जानबूझकर किए गए गंभीर आपराधिक आचरण की एक घातक तस्वीर पेश की.’ कोहेन एक समय में ट्रंप के विश्वासपात्र सहयोगियों में शामिल थे.

मूलर ने एक अलग मेमो में कहा कि कोहेन नवंबर 2015 तक एक रूसी नागरिक के संपर्क में थे, जिन्होंने 'सरकारी स्तर पर तालमेल' की पेशकश की थी. यह ट्रंप के राष्ट्रपति चुनाव जीतने से कुछ महीने पहले की बात है. मूलर ने कहा कि रूसी नागरिक ने क्रेमलिन के साथ संबंध होना का दावा किया था और बार-बार ट्रंप और रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के बीच बैठक की पेशकेश की थी.

उन्होंने कहा कि उस व्यक्ति ने (ट्रंप को नाम लिए बिना उनकी ओर इशारा करते हुए) कहा था कि बैठक का ‘अभूतपूर्व’ प्रभाव पड़ेगा, ‘ना केवल राजनीति पर बल्कि व्यापारिक आयामों पर’ भी लेकिन कोहेन ने उनकी बात नहीं मानी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi