S M L

सात महिलाओं के बयानों के बावजूद सीनियर बुश पर मुकदमा चलना मुश्किल

कई वकीलों का कहना है कि बुश को दोषी ठहराना मुश्किल हो सकता है, बुश वस्कुलर पार्किंसोनिज्म बीमारी से पीड़ित हैं

Updated On: Nov 17, 2017 04:39 PM IST

Bhasha

0
सात महिलाओं के बयानों के बावजूद सीनियर बुश पर मुकदमा चलना मुश्किल

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज एच. डब्ल्यू बुश के खिलाफ मुकदमा नहीं चलाया जा सकता है. जबकि उनके खिलाफ सात महिलाओं ने अनुचित तरीके से छूने का आरोप लगाया है. वकीलों का मानना है कि मुकदमे की संभावना बहुत कम है.

यदि इन मामलों पर मुकदमा चलता तो उनके खिलाफ जुर्माना लगाया जा सकता था या कारावास की सजा हो सकती थी.

एक मामले को छोड़कर बाकी सभी मामले देश के कानूनों के तहत मुकदमा चलाने के लिए अयोग्य हैं. उनके मुताबिक किसी अपराध के होने के बाद मुकदमा चलाने की एक निर्धारित समय-सीमा होती है.

अधिकतर मुकदमों में दर्ज कराने की अवधि खत्म हो चुकी है 

कई वकीलों का कहना है कि बुश को दोषी ठहराना मुश्किल हो सकता है. बुश वस्कुलर पार्किंसोनिज्म बीमारी से पीड़ित हैं.

अभिनेत्री जोर्डाना ग्रोलनिक ने बुश पर आरोप लगाए थे कि उन्होंने पिछले साल उन्हें पीछे से गलत तरीके से छुआ जबकि उस समय उनकी पत्नी पास में खड़ी थीं. उन्होंने बताया कि वह इसकी शिकायत करने की कोई योजना नहीं बना रही हैं.

यही एकमात्र मामला है जिसमें मामला दर्ज कराने की अवधि अब भी खत्म नहीं हुई. इसके अलावा अन्य सभी घटनाओं को घटे हुए 10 साल से भी ज्यादा का वक्त हो गया है. बुश ने अपने प्रवक्ता के माध्यम से कई बार इस बाबत माफी मांगी है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi