live
S M L

2012 से 2015 के बीच करीब ढाई लाख पाकिस्तानी डिपोर्ट

अधिकतर पाकिस्तानियों को गल्फ देशों से डिपोर्ट किया गया है.

Updated On: Nov 21, 2016 01:25 PM IST

FP Staff

0
2012 से 2015 के बीच करीब ढाई लाख पाकिस्तानी डिपोर्ट

पाकिस्तानी अखबार 'डॉन' में छपी खबर के अनुसार साल 2012 से 2015 के बीच करीब ढाई लाख पाकिस्तानी नागरिकों को विभिन्न देशों से डिपोर्ट (निर्वासित) किया गया है. फेडरल इन्वेस्टीगेशन एजेंसी (एफआईए) आंकड़ों के अनुसार इस दौरान 2,42,817 पाकिस्तानियों को डिपोर्ट किया गया है.

इनमें से अधिकतर पाकिस्तानी गल्फ देशों से डिपोर्ट हुए हैं. सबसे अधिक सऊदी अरब से पाकिस्तानी नागरिक (131,643) डिपोर्ट हुए हैं.

इसके बाद संयुक्त अरब अमीरात, ईरान और ओमान का स्थान आता है. यूरोपीय देशों में सबसे अधिक ग्रीस से पाकिस्तानी नागरिकों (14,145) को डिपोर्ट किया गया है.

इसके बाद यूके का स्थान आता है. दक्षिण-पूर्व एशियाई देशों में सबसे अधिक मलेशिया से पाकिस्तानी नागरिक (8,861) डिपोर्ट हुए हैं.

सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात से डिपोर्ट होने वाले लोग अधिकतर या तो कामकाज की खोज में गए थे या व्यापारी थे. जबकि ईरान से डिपोर्ट होने वाले पाकिस्तानी नागरिक, वहां से ग्रीस जाना चाहते थे.

रिपोर्ट के अनुसार गल्फ देशों के सुरक्षा कारणों से इन पाकिस्तानी नागरिकों को डिपोर्ट किया गया.

रिपोर्ट के अनुसार 2007 से जून 2015 तक 513,231 पाकिस्तानी नागरिकों को डिपोर्ट किया जा चुका है. ये आंकड़े यह बताते हैं कि पाकिस्तान से गैरकानूनी माइग्रेशन और मानव तस्करी में साल दर साल वृद्धि हुई है.

2014 में सबसे अधिक 73,064 पाकिस्तानी नागरिकों को डिपोर्ट किया गया था, जबकि 2010 में सबसे कम 46,032 पाकिस्तानी नागरिक डिपोर्ट हुए.

यूनाइटेड नेशन ऑफिस ऑन ड्रग्स एंड क्राइम (यूएनओडीसी) ने अपने अध्ययन में यह पाया है कि ये गैरकानूनी माइग्रेशन पाकिस्तान के पंजाब, गुजरात, गुजरावाला, मंडी बहाउद्दीन, डेरा गाजी खान, मुल्तान और सियालकोट से होते हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi