S M L

क्यूबा में अमेरिकी राजनयिकों पर माइक्रोवेव डिवाइस से हमला?

इन हमलों से राजनयिकों के सुनने, देखने की क्षमता में कमी आई. अधिकारियों में चक्कर आने और अनिद्रा की भी शिकायत पाई गई

Updated On: Jun 11, 2018 03:43 PM IST

Bhasha

0
क्यूबा में अमेरिकी राजनयिकों पर माइक्रोवेव डिवाइस से हमला?

क्यूबा में अमेरिकी राजनयिकों के बीमार पड़ने की गुत्थी नहीं सुलझ पा रही है. वहां के अधिकारी इसे रहस्यमय बीमारी बता रहे हैं.

हवाना में तैनात अमेरिका के 20 से ज्यादा अधिकारियों को दिमागी चोटें आई थीं. इसके बारे में अमेरिकी विदेश मंत्रालय का कहना था कि यह ‘स्वास्थ्य हमले’ का नतीजा हो सकता है. ऐसी संभावना है कि ये हमले सोनिक या माइक्रोवेव डिवाइस से किया गया हो.

अमेरिकी राजनयिकों पर 2016-2017 में ज्यादा हमले हुए. इन हमलों से राजनयिकों के सुनने, देखने की क्षमता में कमी आई. अधिकारियों में चक्कर आने और अनिद्रा की भी शिकायत पाई गई.

अमेरिका ने क्यूबा से कहा था कि या तो वह इस हमलों का जिम्मेदार है या इन हमलों से वह राजनयिकों की रक्षा करने में नाकाम रहा है. अमेरिका ने अपने आधे से अधिक राजनयिकों को वापस अमेरिका बुला लिया था और वाशिंगटन से क्यूबा के 15 राजनयिकों को बर्खास्त कर दिया था. अमेरिका और क्यूबा के बीच 2015 में कुछ संबंध सुधरे. इसके बाद दोनों देशों के बीच इस मुद्दे को लेकर बड़ी राजनयिक खटास पैदा हो गई थी.

क्यूबा के विदेश मंत्रालय ने कहा, क्यूबा और अमेरिकी एजेंसियों की एक साल तक जांच के बाद हम यह कह सकते हैं कि हमारे पास कोई ठोस सबूत नहीं हैं जो अमेरिकी सरकार की ओर से लगाए गए आरोप या उनके कदमों को सही साबित करता हो.'

बयान में कहा गया है कि इस गुत्थी को सुलझाने के लिए क्यूबा ने अमेरिकी अधिकारियों के साथ सहयोग करने की बात कही है. इस बीच चीन में शुक्रवार को अमेरिकी दूतावास ने अपने नागरिकों के लिए स्वास्थ्य अलर्ट जारी किया था. यहां दूतावास के कई कर्मचारियों ने तेज आवाज सुनने और दिमागी चोट की शिकायत की थी. इस मामले को क्यूबा के मामले से जोड़ कर देखा जा रहा है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi