S M L

अमेरिका में ठंड का कहर जारी, 21 लोगों की मौत, नदी-झील बर्फ में तब्दील

उत्तरी ध्रुव की ओर से चल रहे बर्फीले चक्रवात के कारण अमेरिका का बड़ा हिस्सा ठिठुर रहा है. इसे पोलर वोर्टेक्स कहा जा रहा है और ऐसा अनुमान है कि इसके कारण इस वक्त अमेरिका के कुछ हिस्से दुनिया के सबसे ठंडी जगह बन गए हैं

Updated On: Feb 02, 2019 02:57 PM IST

FP Staff

0
अमेरिका में ठंड का कहर जारी, 21 लोगों की मौत, नदी-झील बर्फ में तब्दील

दुनियाभर में ठंड का कहर जारी है. अमेरिका के अधिकतर हिस्सों में माइनस में तापमान दर्ज किया जा रहा है. ठंड से राहत पाने के लिए लोग तरह-तरह के उपाय कर रहे हैं. ठंड का कहर इतना अधिक है कि नदी, झील, झरने सब बर्फ की मोटी चादर से ढक गए हैं. द गार्जियन की रिपोर्ट के अनुसार बर्फबारी और तूफानी बर्फीली हवाओं के कारण लोगों के लिए रोजमर्रा का काम करना भी मुश्किल हो गया है. उत्तरी ध्रुव की ओर से चल रहे बर्फीले चक्रवात के कारण अमेरिका का बड़ा हिस्सा ठिठुर रहा है. इसे पोलर वोर्टेक्स कहा जा रहा है और ऐसा अनुमान है कि इसके कारण इस वक्त अमेरिका के कुछ हिस्से दुनिया के सबसे ठंडी जगह बन गए हैं.

हाल ही में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का एक ट्वीट भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था जिसमें वह ठंड से परेशान नजर आ रहे थे. उन्होंने ट्वीट में लिखा था- अमेरिका के कई भागों में माइनस 60 डिग्री तापमान है. ठंड से इतना बुरा हाल है कि एक मिनट तक घर से बाहर रहना मुश्किल हो रहा है. अब खबर आ रही है कि शिकागो में ठंड से बचने के लिए रेलवे पटरियों पर आग लगाई जा रही है. इसकी कई तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं. बता दें कि माइनस में तापमान चले जाने के कारण ट्रेन का संचालन बाधित हो गया है इसी को सामान्य करने और ट्रेन संचालन को दोबारा शुरू करने के लिए पटरियों पर आग लगाई जा रही है.

आपको ये जानकर हैरानी होगी कि नायग्रा फॉल्स भी पूरी तरह से बर्फ में तब्दील हो चुका है. घरों की पाइपलाइन में पानी जम जा रहा है तो वॉशरूम में भी बर्फ की परत दिख रही है. इतना ही नहीं चूल्हे से गर्म पानी उतारने के कुछ सेकेंड में वह बर्फ में तब्दील हो जा रहा है. अमेरिका के सबसे बड़े और व्यस्त शहरों में से एक न्यूयॉर्क की हडसन नदी में अब पानी का एक बूंद भी नजर नहीं आ रहा है. नदी पूरी तरह से बर्फ की मोटी सिल्ली में बदल गई है. वहीं मध्य पश्चिमी अमेरिका में जबरदस्त ठंड के कारण पानी के स्रोत जम गए हैं. बिजली गुल हो गई है. उड़ानों को रद्द करना पड़ा और प्राकृतिक गैस की आपूर्ति भी बाधित है.

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi