S M L

धर्मों को अपने हिसाब से ढाल रही है चीन की वामपंथी सरकार

चर्च से राष्ट्रीय झंडा फहराने और संविधान को प्रदर्शित करने को कहा गया है जबकि सार्वजनिक स्थानों से धार्मिक प्रतिमाओं को हटाने को कहा गया है

Updated On: Sep 15, 2018 03:01 PM IST

Bhasha

0
धर्मों को अपने हिसाब से ढाल रही है चीन की वामपंथी सरकार
Loading...

चीन की वामपंथी सरकार ने धर्मों को चीन के हिसाब से ढालने और विकास परियोजनाओं के लिए प्राचीन इलाकों को ढहाने का अभियान तेज कर दिया है. इसके चलते हेनान प्रांत में रोमन कैथोलिकों समुदाय के पास प्रार्थना करने के लिए कोई जगह नहीं बची है.

मध्य चीन में कैथोलिक चर्च के बाहर लगे एक सरकारी साइन बोर्ड पर बच्चों को प्रार्थना में नहीं शामिल होने की चेतावनी दी गई है. अवैध चर्च गिराए जा रहे हैं. पादरी अपने समुदाय के लोगों की निजी सूचना अधिकारियों को दे रहे हैं. चीन में ईसाईयों के लिए फिलहाल इसी तरह का माहौल बना हुआ है.

दो समूह में बंट गए हैं कैथोलिक

यह अभियान और तेज होता जा रहा है. सन् 1951 में वेटिकन और बीजिंग के आपसी संबंध कड़वे हो गए थे. हालांकि अब उनमें सुधार आया है और बीजिंग के बिशप की नियुक्ति के अधिकार को लेकर जारी विवाद अब कुछ सुलझता दिख रहा है.

इस विवाद के चलते चीन के करीब 1,20,00,000 कैथोलिक दो समूहों में बंट गए हैं. एक समूह जो सरकार द्वारा मंजूर धर्माधिकारी को मानता है और दूसरा वह जो रोम समर्थक चर्च के स्वीकृत नियमों को मानता है.

बंद किए चर्च द्वारा चलाए जाने वाले सरकारी स्कूल

चर्च के शीर्ष पर से क्रॉस हटा लिए गए हैं, मुद्रित धार्मिक सामग्रियों और पवित्र चीजों को जब्त कर लिया गया है और चर्च द्वारा चलाए जाने वाले केजी स्कूलों को बंद कर दिया गया है. चर्च से राष्ट्रीय झंडा फहराने और संविधान को प्रदर्शित करने को कहा गया है जबकि सार्वजनिक स्थानों से धार्मिक प्रतिमाओं को हटाने को कहा गया है.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi