S M L

अमेरिकी विवाद का असर! पाकिस्तान में चलेगी चीनी मुद्रा

आलम ये है कि पाकिस्तान में जो दर्जा अभी तक अमेरिकी डॉलर को मिलता था, वही अब चीनी करेंसी को भी मिलेगा

Updated On: Jan 02, 2018 09:10 PM IST

FP Staff

0
अमेरिकी विवाद का असर! पाकिस्तान में चलेगी चीनी मुद्रा

पाकिस्तान और चीन की दोस्ती दिन प्रतिदन मजबूत होती जा रही है. आलम ये है कि पाकिस्तान में जो दर्जा अभी तक अमेरिकी डॉलर को मिलता था. वही अब चीनी करेंसी को भी मिलेगा. द ट्रिब्यून की खबर के मुताबिक, पाकिस्तान के प्लानिंग एंड डेवलप्मेंट मिनिस्टर अहसन इकबाल और चीनी एंबेसडर याओ जिंग ने सोमवार को 2017-2030 के लिए प्लान लॉन्च किया था. जिसमें चाइना-पाकिस्तान इकॉनमिक कॉरिडोर (सीपीईसी) बनना भी है.

इस दस्तावेज में कहा गया है कि शासन की कमी और असमान क्षेत्रीय विकास सीपीईसी के काम में बड़ी बाधा है. साथ ही प्लान में शामिल किए गए कुछ अन्य फीचर्स में ये भी कहा गया है कि युआन (रॅन्मिन्बी) को यूएस डॉलर के बराबर का दर्जा दिया जाए और चीनी निवेश को कृषि उत्पादन में जगह दी जाए.

युआन को दूसरी इंटरनेशनल करेंसी के रूप में इस्तेमाल करने के फैसले से पाकिस्तान की डॉलर के ऊपर जो निर्भरता है, वो भी अब कम होगी. प्लान में कहा गया है कि पाकिस्तान को ग्वादर पोर्ट फ्री जोन के निर्माण को बढ़ावा देना चाहिए और ग्वादर फ्री जोन में कारोबार को बढ़ावा देने के लिए चीनी करेंसी का इस्तेमाल बढ़ाना चाहिए.

अहसान इकबाल ने कहा कि यूएस डॉलर की जगह चीनी करेंसी के इस्तेमाल से पाकिस्तान को फायदा होगा. चीनी करेंसी के इस्तेमाल से हमारी यूएस डॉलर पर निर्भरता कम होगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi