S M L

चीन ने ब्रह्मपुत्र, सतलुज नदियों पर भारत से शुरू किया डेटा साझा करना

जल संसाधन मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया है कि चीन ने 15 मई से ब्रह्मपुत्र नदी की जानकारी साझा करना शुरू कर दिया है. जबकि 1 जून से सतलुज से संबंधित आंकड़े साझा किए जा रहे हैं

Bhasha Updated On: Jun 10, 2018 05:31 PM IST

0
चीन ने ब्रह्मपुत्र, सतलुज नदियों पर भारत से शुरू किया डेटा साझा करना

चीन ने लगभग साल भर के गैप (अंतराल) के बाद ब्रह्मपुत्र और सतलुज नदी की हाईड्रोलॉजिकल (जल विज्ञान संबंधी) जानकारी भारत के साथ साझा करना शुरू कर दिया है.

जल संसाधन मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया है कि चीन ने 15 मई से ब्रह्मपुत्र नदी की जानकारी साझा करना शुरू कर दिया है. जबकि 1 जून से सतलुज से संबंधित आंकड़े साझा किए जा रहे हैं.

दोनों पक्षों ने इस मुद्दे पर मार्च में बातचीत की थी. इसके बाद यह कदम उठाया गया है. पिछले साल, चीन ने बाढ़ में हाईड्रोलॉजिकल जानकारी एकत्र स्थलों के बह जाने का कारण बता कर डेटा साझा करने से इनकार कर दिया था. यह भी एक संयोग ही था कि मॉनसून के दौरान ही 73 दिन का डोकलाम गतिरोध चला था.

यह भी संयोगवश हो रहा है दोनों देशों की सेनाओं के बीच सालाना अभ्यास पर सहमति होने के साथ ही हाईड्रोलॉजिकल जानकारी साझा की जा रही है.

यह अभ्यास डोकलाम गतिरोध की वजह से नहीं हो पाया था.

ब्रह्मपुत्र नदी तिब्बत से निकलती है और अरूणाचल प्रदेश और असम में बहती है. जहां से यह नदी बांग्लादेश से हो कर बंगाल की खाड़ी में गिरती है.

अधिकारी ने बताया कि हाईड्रोलॉजिकल डेटा साझा करना अहम है क्योंकि इससे पूर्वोत्तर राज्यों में बाढ़ से संबंधित जानकारी हासिल करने में मदद मिलती है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
DRONACHARYA: योगेश्वर दत्त से सीखिए फितले दांव

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi