S M L

गिलगिट-बाल्टिस्तान मुद्दे पर चीन चुप, कहा- CPEC से कश्मीर पर नहीं प्रभावित होगा उसका रूख

चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनियंग ने कहा कि कश्मीर मुद्दा भारत-पाकिस्तान के बीच ‘ऐतिहासिक समस्या’ है. इसलिए इसका हल दोनों देशों के द्वारा बातचीत के जरिए ही किया जाना चाहिए

Updated On: May 29, 2018 04:01 PM IST

Bhasha

0
गिलगिट-बाल्टिस्तान मुद्दे पर चीन चुप, कहा- CPEC से कश्मीर पर नहीं प्रभावित होगा उसका रूख

चीन ने गिलगिट-बाल्टिस्तान पर प्रशासनिक नियंत्रण से संबंधित पाकिस्तान के ताजा आदेश पर कोई सीधी टिप्पणी करने से बचते हुए कहा कि विवादित क्षेत्र से गुजरने वाले चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा (सीपीईसी) से उसका यह रूख प्रभावित नहीं होगा कि कश्मीर मुद्दे का समाधान भारत और पाकिस्तान के बीच होना चाहिए.

पाकिस्तान की कैबिनेट ने 21 मई को गिलगिट-बाल्टिस्तान संबंधी आदेश को मंजूरी दी थी. क्षेत्र की विधानसभा ने भी इसका समर्थन किया है. कहा जा रहा है कि पाकिस्तान का यह आदेश विवादित क्षेत्र को अपने पांचवें प्रांत के रूप में शामिल करने का प्रयास है.

पाकिस्तान के इस कदम से क्षेत्र में रोष और नाराजगी है. भारत ने इस पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है और कहा कि पूरा जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है और गिलगिट-बाल्टिस्तान उसी प्रांत का हिस्सा है.

चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनियंग ने संवाददाताओं से कहा कि कश्मीर मुद्दा भारत और पाकिस्तान के बीच ‘ऐतिहासिक समस्या’ है. इसलिए इसका हल दोनों देशों के द्वारा बातचीत के जरिए ही किया जाना चाहिए.

पाकिस्तान के हालिया कदम के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि बीजिंग का यह रूख है कि कश्मीर मुद्दे का हल दोनों देशों के बीच होना चाहिए और गिलगिट और बाल्टिस्तान से गुजरने वाले 50 अरब डॉलर के चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे (सीईपीसी) से उसका यह रूख प्रभावित नहीं होगा.

उन्होंने कहा कि हमने कई बार जोर दिया है कि सीपीईसी आर्थिक सहयोग के लिए एक पहल है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi