S M L

आतंक पर चीन की दोहरी नीति, कहा- मसूद को आतंकवादी घोषित नहीं करेंगे

चीन के दोहरे चेहरे का एक और उदाहरण.

Bhasha Updated On: Jun 21, 2017 01:53 PM IST

0
आतंक पर चीन की दोहरी नीति, कहा- मसूद को आतंकवादी घोषित नहीं करेंगे

चीन ने मंगलवार को कहा कि पाकिस्तानी आतंकवादी मसूद अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी घोषित करने की राह में अभी भी कुछ समस्याएं हैं.

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुंग ने कहा, 'वर्तमान में, कुछ सदस्य अभी भी मुद्दे से असहमत हैं.'

चीन की इस टिप्पणी से साफ है कि वो जैश-ए-मोहम्मद के प्रमुख को संयुक्त राष्ट्र में अंतर्राष्ट्रीय आतंकवादी घोषित करने के भारत के प्रयास में एक बार फिर अड़ंगा लगाएगा.

पहले भी वीटो का कर चुका है इस्तेमाल

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में मसूद अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी घोषित कराने के भारत की कोशिशों में रोड़ा अटकाने के लिए चीन पहले भी वीटो का इस्तेमाल कर चुका है. उसने तर्क दिया है कि जैश-ए-मोहम्मद के प्रमुख मसूद अजहर के खिलाफ पुख्ता सबूतों की कमी है. मसूद अजहर को पठानकोट वायुसेना अड्डे पर आतंकवादी हमले का मुख्य साजिशकर्ता ठहराया गया है.

गेंग ने कहा, 'हम अपने रुख को लेकर कई बार बातचीत कर चुके हैं. हमारा मानना है कि निष्पक्षता, पेशवर रवैया और न्याय बरकरार रहना चाहिए.' उन्होंने आगे कहा, 'इस मुद्दे पर चीन प्रासंगिक पक्षों के साथ समन्वय तथा संपर्क बनाए रखने के लिए तैयार है.'

बीजिंग की प्रतिक्रिया बढ़ते आतंकवाद पर भारत और चीन के चिंता जताने और आतंकवाद के खिलाफ मुकाबले के लिए ब्रिक्स देशों के साथ सर्वसम्मति बनाने के आह्वान के एक दिन बाद आई है.

एक ही समस्या से पीड़ित, लेकिन दोहरा रवैया क्यों?

सोमवार को ब्रिक्स देशों के विदेश मंत्रियों की बैठक के दौरान विदेश मंत्री वांग यी ने कहा था कि चीन आतंकवाद से पीड़ित है और भारत की चिंता को समझता है. वहीं, भारत के विदेश राज्यमंत्री वी.के.सिंह ने कहा था कि भारत और चीन इस बात से सहमत हैं कि आतंकवाद पूरी दुनिया के लिए चुनौती है.

दोनों देशों की तरफ से आतंकवाद को लेकर चिंता जताई जा रही है. भारत तो पहले ही हमेशा से इस मुद्दे को लेकर साफ और कड़ा रुख अपनाए हुए है और अंतरराष्ट्रीय मंचों पर इसके खिलाफ आवाज उठाता रहा है लेकिन चीन वक्त-वक्त पर अपना दोहरा चेहरा दिखा देता है. एक तरफ तो आतंक से लड़ने की बातें करता है और दूसरी तरफ पाकिस्तान के साथ रक्षा सौदे करता है और वक्त आने पर भारत के खिलाफ वीटो पॉवर इस्तेमाल करता है.

अब मसूद अजहर के मुद्दे पर भारत तथा चीन के बीच संबंधों में कड़वाहट बढ़ गई है. कई अन्य मुद्दों पर दोनों देशों के संबंध पहले से ही तनावग्रस्त है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Test Ride: Royal Enfield की दमदार Thunderbird 500X

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi