S M L

पाकिस्तान में सैन्य अड्डा निर्माण योजना से चीन का इनकार

विदेशी अखबारों में हाल ही में ऐसी खबरें छपी थीं कि चीन रणनीतिक समुद्री मार्गों पर अपनी समुद्री क्षमताएं बढ़ाने के प्रयास के तहत अपने दूसरे विदेशी सैन्य अड्डे के निर्माण को लेकर पाकिस्तान के साथ बातचीत कर रहा है

Updated On: Jan 09, 2018 04:37 PM IST

Bhasha

0
पाकिस्तान में सैन्य अड्डा निर्माण योजना से चीन का इनकार

चीन ने अटकलें लगाने वाली इन खबरों को खारिज किया कि वह पाकिस्तान के बलूचिस्तान में रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण चाबहार बंदरगाह के करीब जिवानी में एक सैन्य अड्डे का निर्माण करने की योजना बना रहा है. इस बंदरगाह को भारत, ईरान और अफगानिस्तान द्वारा संयुक्त रूप से विकसित किया जा रहा है.

खबरों के अनुसार, पाकिस्तान चीन को जिवानी में सैन्य अड्डा बनाने की अनुमति दे सकता है. जिवानी बीजिंग द्वारा विकसित किए जा रहे ग्वादर बंदरगाह के भी करीब है.

‘द ग्लोबल टाइम्स’ ने ‘वाशिंगटन टाइम्स’ की खबर के हवाले से कहा कि चीन रणनीतिक समुद्री मार्गों पर अपनी समुद्री क्षमताएं बढ़ाने के प्रयास के तहत अपने दूसरे विदेशी सैन्य अड्डे के निर्माण को लेकर पाकिस्तान के साथ बातचीत कर रहा है.

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू कांग ने इस रिपोर्ट के बारे में पूछे जाने पर मीडिया से कहा, ‘आप जिस बारे में बात कर रहे हैं, मुझे उसकी जानकारी नहीं है’. चीन और विदेशी मीडिया ने कहा है कि पाकिस्तान ने अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के 1 जनवरी को आलोचनात्मक ट्वीट के जवाब में चीन को अहम स्थान का प्रस्ताव दिया है.

चीन के मीडिया ने अटकलें लगाईं कि पाकिस्तान पर दबाव बढ़ाने के ट्रंप के प्रयास उसे चीन के करीब ला सकते हैं. क्योंकि बीजिंग 50 अरब डालर के चीन पाकिस्तान आर्थिक गलियारा (सीपीईसी) के तहत देश में कई परियोजनाओं में शामिल है.

चीन के विश्लेषकों का कहना है कि जिवानी अड्डा चीन के लिए जरूरी नहीं है क्योंकि फिलहाल उसके पास ग्वादर है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi