S M L

बातचीत तभी जब भारत डोकलाम से हटाए अपनी सेना: चीन

इससे पहले सुषमा स्वराज ने संसद में कहा था कि चीन सेना हटाए तभी बातचीत हो सकती है

Updated On: Jul 21, 2017 06:56 PM IST

FP Staff

0
बातचीत तभी जब भारत डोकलाम से हटाए अपनी सेना: चीन

चीन ने गुरुवार को फिर कहा कि भारत डोकलाम से अपने जवानों को बुला ले, तभी बातचीत होगी. डोकलाम में चीन और भारत के सैनिक करीब महीने भर से आमने-सामने हैं.

चीन ने दोहराया कि भारत से सीमा के सिक्किम क्षेत्र में डोकलाम से सैनिकों को हटाया जाना सार्थक संवाद की शर्त है.

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू कांग ने एक प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि हमारे कूटनीतिक माध्यम खुले हुए हैं. दोनों पक्षों के बीच संवाद के लिए भारत के जवानों को हटाया जाना इसकी शर्त है.

'भारत ने की घुसपैठ'

साथ ही लू ने कहा कि सिक्किम क्षेत्र में हुई घटना से साफ है कि भारतीय सीमा के जवानों ने अवैध तौर पर चीनी क्षेत्र में घुसपैठ की.

चीन, भूटान और भारत की सीमा डोकलाम में मिलती है. यह तीनों देशों के लिए सामरिक रूप से महत्वपूर्ण है. चीन डोकलाम को अपना बताता है, लेकिन भारत और भूटान इसे भूटान का क्षेत्र बताते हैं.

भारत भूटान का करीबी सहयोगी है. भारत ने जून में चीन को डोकलाम में सड़क बनाने से रोका था. इसके बाद भारत और चीन आमने-सामने हो गए.

मौजूदा समय में दोनों देशों की सेनाएं डोकलाम में आमने-सामने हैं. भारत का कहना है कि वह मामले का कूटनीतिक तौर पर हल चाहता है.

(साभार: न्यूज़18)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi