विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

चीन में पाकिस्तान के राजदूत को लग रहा है सुरक्षा का खतरा

चरमपंथी संगठन से खतरे की आशंका को देखते हुए अपने राजदूत के लिए अतिरिक्त सुरक्षा की मांग की है

Bhasha Updated On: Oct 22, 2017 04:53 PM IST

0
चीन में पाकिस्तान के राजदूत को लग रहा है सुरक्षा का खतरा

भारत के मामले में चीन पाकिस्तान की कितनी भी तरफदारी कर ले, हकीकत में वह भी चिंतित रहता है. इस बात को खुद चीन पुख्ता कर रहा है. उसने पाकिस्तान में अपने राजदूत के लिए अतिरिक्त सुरक्षा मांगी है.

खबरों के मुताबिक चीन ने एक चरमपंथी संगठन से खतरे की आशंका को देखते हुए पाकिस्तान में अपने राजदूत के लिए अतिरिक्त सुरक्षा की मांग की है. चीन ने बीते 19 अक्टूबर को पाकिस्तान के गृह मंत्रालय को पत्र लिखकर अपने राजदूत याओ जिंग को अतिरिक्त सुरक्षा प्रदान किए जाने की मांग की है. यह पत्र स्थानीय मीडिया के पास उपलब्ध है.

सीपेक के कर्ता-धर्ता पिंग यिंग फी ने लिखा है यह पत्र 

अरबों डॉलर की चीन-पाकिस्तान आर्थिक कोरिडोर (सीपेक) के मुख्य कर्ता-धर्ता पिंग यिंग फी ने यह पत्र लिखा है. पिंग ने कहा कि याओ को अब्दुल वली नामक चरमपंथी से खतरा है.

वली का ताल्लुक ‘ईस्ट तुर्कमेनिस्तान इंडिपेंडेंट मूवमेंट’ (ईटीआईएम) से है. यह संगठन चीन के शिनजियांग प्रांत में सक्रिय है. चीन ने पाकिस्तान से कहा कि वह उसके राजदूत और पाकिस्तान में काम कर रहे दूसरे चीनी नागरिकों की सुरक्षा बढ़ाए.

हाल ही में श्रीलंकाई क्रिकेट टीम ने ने भी पाकिस्तान में क्रिकेट खेलने के इंकार कर दिया था. टीम के कई खिलाड़ियों ने सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए वहां जाने से इंकार कर दिया था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi