S M L

'डोकलाम विवाद पीछे, भारत-चीन कर रहे आगे की बात'

चीनी महावाणिज्य दूत मा झानवु चीनी गणराज्य की स्थापना की 68 वीं वर्षगांठ पर आयोजित एक कार्यक्रम में बोल रहे थे

Updated On: Sep 24, 2017 11:45 AM IST

Bhasha

0
'डोकलाम विवाद पीछे, भारत-चीन कर रहे आगे की बात'

डोकलाम अब बीती बात हो गई है. भारत और चीन अब इस प्रकरण को छोड़ आगे बढ़ चुके हैं. अपने संबंधों को आगे बढ़ाने के लिए साथ मिलकर काम कर रहे हैं. यह बात चीनी महावाणिज्य दूत मा झानवु ने कही.

झानवु चीनी गणराज्य की स्थापना की 68 वीं वर्षगांठ पर आयोजित एक कार्यक्रम में बोल रहे थे. उन्होंने कहा कि भारत और चीन साथ मिलकर काम कर रहे हैं. इस संबंध को कैसे आगे बढ़ाया जाए, इस पर चर्चा करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति शी जिनपिंग की पांच सितंबर को बैठक हुई थी.

उन्होंने कहा, 'जितना दोनों देश मिलकर काम करेंगे, हम उतना ही आदान-प्रदान और सहयोग को बढ़ाने और विकसित करने में सक्षम होंगे.'

यह पूछे जाने पर कि क्या दोनों देशों ने डोकलाम प्रकरण को पीछे छोड़ दिया है? झानवु ने कहा, 'हां, हमने पीछे छोड़ दिया है और द्विपक्षीय संबंधों को आगे बढ़ाने के लिए साथ मिलकर काम कर रहे हैं.'

मोदी-जिनपिंग की बैठक के बाद बदली थी स्थिति 

प्रधानमंत्री मोदी ने पांच सितंबर को 9वें ब्रिक्स शिखर सम्मेलन से इतर राष्ट्रपति शी जिनपिंग से मुलाकात की थी. दोनों नेताओं ने डोकलाम विवाद खत्म करने पर सहमति जताई थी. उनका मानना था कि दोनों देशों को अपने सुरक्षाकर्मियों के बीच सहयोग को मजबूत बनाने और डोकलाम जैसी घटना की पुनरावृत्ति नहीं हो, इस बात को सुनिश्चित करने के लिए और प्रयास करने चाहिए.

चीनी और भारतीय सैनिकों के बीच गत 16 जून से सिक्किम सेक्टर के डोकलाम इलाके में तनातनी चल रही थी, जब भारतीय सैनिकों ने चीनी सेना को उस इलाके में सड़क बनाने से रोक दिया था.

गत 28 अगस्त को भारतीय विदेश मंत्रालय ने घोषणा की कि नई दिल्ली और बीजिंग ने विवादास्पद डोकलाम क्षेत्र से अपने-अपने सैनिकों को हटाने का फैसला किया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi