S M L

5 नहीं, 8 करोड़ से ज्यादा FB यूजर्स का डेटा हुआ लीक, इतने हैं भारतीय

इससे पहले कहा जा रहा था कि कैंब्रिज एनालिटिका ने 5 करोड़ एफबी यूजर्स के डेटा का गलत इस्तेमाल किया है लेकिन यह आंकड़ा 8 करोड़ 70 लाख है

FP Staff Updated On: Apr 05, 2018 11:13 AM IST

0
5 नहीं, 8 करोड़ से ज्यादा FB यूजर्स का डेटा हुआ लीक, इतने हैं भारतीय

कैंब्रिज एनालिटिका और फेसबुक डेटा लीक मामले में एक अहम और चौंकाने वाला खुलासा हुआ है. यह खुलासा किसी और ने नहीं बल्कि खुद फेसबुक ने किया है. अब तक यह कहा जा रहा था कि कैंब्रिज एनालिटिका ने फेसबुक से 5 करोड़ लोगों की निजी जानकारियां गलत तरीके से चुराकर उनका इस्तेमाल किया है. दरअसल, यह आंकड़ा पांच करोड़ का नहीं बल्कि 8 करोड़ 70 लाख (87 मिलियन) का है.

फेसबुक सीईओ मार्क जकरबर्ग ने बताया कि कैंब्रिज एनालिटिका ने 2016 अमेरिका राष्ट्रपति चुनाव के दौरान 87 मिलियन फेसबुक यूजर्स के निजी जानकारियों को गलत तरीके से शेयर किया था. यह कंपनी तब डोनाल्ड ट्रंप के लिए काम कर रही थी. कंपनी पर अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव को प्रभावित करने का आरोप भी लगा है.

इससे पहले इस बात का खुलासा नहीं हुआ था कि कैंब्रिज एनालिटिका ने कितने फेसबुक यूजर्स की निजी जानकारियों का अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव के दौरान गलत इस्तेमाल किया था. हालांकि, कंपनी ने अपने बयान में कहा था कि उससे पास मात्र 3 करोड़ फेसबुक यूजर्स के डेटा हैं.

कैंब्रिज एनालिटिका ने फेसबुक से जिन यूजर्स के डेटा को गलत तरीके से लिया था उनमें सबसे ज्यादा अमेरिका के हैं. फेसबुक द्वारा जारी किए गए इस डेटा में बताया गया है कि अमेरिका के 7 करोड़ से ज्यादा फेसबुक यूजर्स की जानकारियां कैंब्रिज एनालिटिका ने गलत तरीके से ली है. हालांकि भारत के मात्र 5 लाख 62 हजार यूजर्स की ही जानकारियां कैंब्रिज एनालिटिका के पास हैं.

FB Data

11 अप्रैल को अमेरिकी कांग्रेस में जकरबर्ग की पेशी

कैंब्रिज एनालिटिका द्वारा एफबी यूजर्स की निजी जानकारियों का गलत इस्तेमाल करने के मामले में फेसबुक के सीईओ जकरबर्ग 11 अप्रैल को अमेरिका की संसद कांग्रेस की कमिटी के सामने पेश होंगे. फेसबुक यूजर्स की निजी जानकारी के कथित दुरूपयोग के सामने आने के बाद जकरबर्ग की यह पेशी हो रही है. कांग्रेस कमिटी ने उम्मीद जताई कि इस सुनवाई से फेसबुक यूजर्स लीक मामले में कई नई चीजें सामने आ सकती हैं.

दिक्कतों को दूर करने में लगेंगे कुछ साल

डेटा लीक मामले में आलोचना झेल रही फेसबुक और उसके सीईओ मार्क जकरबर्ग ने कंपनी के कारोबारी मॉडल का बचाव करते हुए भी अपना पक्ष रखा. उन्होंने कहा कि यूजर्स की निजी जानकारियां हासिल करने से जो समस्याएं सामने आई, उन्हें दूर करने में कुछ साल लगेंगे. फेसबुक इसपर तेजी से काम कर रही है.

बताई अपनी समस्या

जकरबर्ग ने कहा कि फेसबुक की समस्याओं में से एक यह है कि वह 'आदर्शवादी' है. हमने लोगों को जोड़ने के सकरात्मक पहलू पर ध्यान केंद्रित किया. लेकिन, टूल्स के नकरात्मक इस्तेमाल को लेकर नहीं सोचा. उन्होंने कहा कि मेरा मानना है कि अब लोग जोखिमों और नकरात्मक पहलुओं पर भी ध्यान केंद्रित कर रहे हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi