विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

पीएम मोदी और जिनपिंग में हुई बातचीत, चीन ने कहा- पंचशील समझौते पर चलेंगे

डोकलाम विवाद के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बीच श्यामन में पहली बार बातचीत हुई

FP Staff Updated On: Sep 05, 2017 11:57 AM IST

0
पीएम मोदी और जिनपिंग में हुई बातचीत, चीन ने कहा- पंचशील समझौते पर चलेंगे

डोकलाम विवाद के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बीच श्यामन में पहली बार बातचीत हुई. दोनों नेताओं ने गर्मजोशी के साथ एक दूसरे से हाथ मिलाया और उनके बीच करीब 45 मिनट तक बातचीत हुई. पीएम मोदी ने कहा कि भारत द्विपक्षीय बातचीत को लेकर उत्साहित है. ब्रिक्स सम्मेलन की सफलता पर चीन को बधाई देना चाहता हूं. ब्रिक्स को प्रासंगिक बनाने में यह शिखर सम्मेलन बेहद सफल हुआ है.

वहीं चीन के राष्ट्रपति जिनपिंग ने पीएम मोदी से कहा कि चीन  भारत के साथ मिलकर पंचशील के सिद्धांत के तहत काम करने को तैयार है. भारत और चीन प्रमुख पड़ोसी, विकासशील और उभरते देश हैं.

वहीं विदेश सचिव एस जयशंकर ने कहा है कि चीन के राष्ट्रपति जिनपिंग के साथ हुई बातचीत सकारात्मक रही. पीएम मोदी और जिनपिंग के बीच एक घंटे से ज्यादा बातचीत हुई. बातचीत में सीमा पर शांति बनाए रखने पर सहमति बनीं है.

चीन से मुलाकात पर विदेश मंत्रालय ने कहा कि आपसी भरोसा बढ़ाने की जरूरत है. पीछे की बात भूल कर आगे बढ़ने और मतभेद को टकराव में नहीं बदलने की बात हुई है. आज चीन से आतंकवाद पर बातचीत नहीं हुई है.

आपको बता दें कि पिछले कुछ समय से चीन और भारत के रिश्तों में काफी खटास आई है. डोकलाम में दोनों देशों के सैनिकों के बीच तनातनी भी देखनो को मिली है. ऐसे में पीएम मोदी और शी जिनपिंग की इस मुलाकात पर सभी की नजरें टिकी हुईं थी.

सूत्रों का कहना है कि रिश्तों में आई कड़वाहट के बाद अब दोनों देशों ने आगे बढ़ने का फैसला किया है. माना जा रहा है कि जिनपिंग और पीएम मोदी के बीच ये मुलाकात करीब एक घंटे तक चलेगी, क्योंकि 11 बजे पीएम मोदी को म्यांमार के लिए रवाना होना है. बैठक में पीएम मोदी और जिनपिंग के बीच डोकलाम विवाद पर चर्चा हो सकती है.

इससे पहले मंगलवार को चीन के श्यामन शहर में चल रहे ब्रिक्स सम्मेलन में पीएम मोदी ने अपने संबोधन में आतंकवाद का मुद्दा उठाया. ब्रिक्स श्यामन 2017 के घोषणापत्र में आतंकवाद का जिक्र किया गया है. इस घोषणापत्र में लश्कर-ए-तयैबा, जैश-ए-मोहम्मद समेत कुल 10 आतंकी संगठनों का जिक्र है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi