S M L

40 साल पहले हुई थी हत्या, पेट में पड़ा अंजीर का बीज जब पेड़ बना तब जाकर मिली बॉडी

मृत्यु के दौरान उस व्यक्ति के पेट में अंजीर का बीज था, जो कि अब पेड़ बन चुका था

Updated On: Sep 26, 2018 04:39 PM IST

FP Staff

0
40 साल पहले हुई थी हत्या, पेट में पड़ा अंजीर का बीज जब पेड़ बना तब जाकर मिली बॉडी

एक लापता आदमी, जिसकी साल 1974 में हत्या हो गई थी. उसके शरीर के अवशेष जब सामने आए तो सब हैरान रह गए. यह खुलासा हुआ एक पेड़ के कारण. दरअसल मृत्यु के दौरान उस व्यक्ति के पेट में अंजीर का बीज था, जो कि अब पेड़ बन चुका था.

साल 2011 में जब एक शोधकर्ता ने पहाड़ों में एक असामान्य जगह में बढ़ते हुए इस अंजीर के पेड़ को देखा. तो उसको अचंभा हुआ और उसने पेड़ के चारों ओर के क्षेत्र को खोद दिया. खुदाई के बाद उसे वहां एक मानव शरीर के अवशेष मिले जिसे देखकर वह भयभीत हो गया.

खोज के बाद पता चला कि पेड़ उस आदमी के पेट से निकला था. उस व्यक्ति की पहचान जिसे अहमेत हर्ग्यून के रूप में हुई है. जो 1974 में ग्रीक साइप्रस और तुर्की साइप्रस के बीच संघर्ष के दौरान मारा गया था. इस जगह से दो अन्य शव भी पाए गए हैं.

मरने से पहले खाया था अंजीर

हत्या की जांच करने वालों ने पाया कि गुफा में एक डायनामाइट द्वारा हर्ग्यून और अन्य दो की मौत हो गई थी. उनका कहना है कि हर्ग्यून ने मरने से कुछ ही समय पहले अंजीर खाया होगा.

खोजबीन के बाद पता चला कि हर्ग्यून दो अन्य व्यक्तियों के साथ तुर्की रेसिसटेंस ऑर्गेनाइजेशन (टीएमटी) में शामिल हुआ था. उन लोगों को लड़ाई के दौरान गुफा में ले जाया गया, जहां विस्फोट कर तीनों को मार दिया गया. तीनों के शव लगभग 40 वर्षों तक लापता रहे.

हर्ज्यून की बहन 87 वर्षीय मुनुर ने कहा, 'हम जिस गांव में रहते थे वहां 4,000 लोग रहते थे. जिनमें से आधे ग्रीक और आधे तुर्की थे. साल 1974 में उपद्रव शुरू हो गया. मेरा भाई अहमेत टीएमटी में शामिल हो गया था. 10 जून को ग्रीक्स लोग उन्हें ले गए तब से वो लापता हैं.'

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi