विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

भारत और बांग्लादेश के बीच अगले महीने शुरू हो सकती है रेल सेवा

1947 में काट दी गईं इन रेल लाइनों को जोड़ने का काफी काम पूरा हो गया है

Bhasha Updated On: Oct 28, 2017 02:54 PM IST

0
भारत और बांग्लादेश के बीच अगले महीने शुरू हो सकती है रेल सेवा

बांग्लादेश के रेल मंत्री मुजीबुल हक ने कहा है कि भारत के साथ 12 जगहों पर रेल लाइनों को फिर से जोड़ने की पहल शुरू कर दी गई है. ये सारी लाइन 1947 में देश के बंटवारे के बाद काट  दी गई थीं.

मुजीबुल हक ने कहा, ‘‘हम उन सभी रेल लाइनों को फिर से जोड़ना चाहते हैं जो भारत के बंटवारे से पहले मौजूद थीं. अभी भारत और बांग्लादेश के बीच 12 स्थानों पर रेल लाइन को बहाल करने की पहल की जा रही है. इसमें दोनों सरकारें एक-दूसरे का सहयोग कर रही हैं.’’  हक त्रिपुरा में दोनों देशों के रोटरी क्लबों द्वारा आयोजित एक सम्मेलन में शामिल होने आए थे. त्रिपुरा के मुख्यमंत्री माणिक सरकार ने सम्मेलन का उद्घाटन किया.

बांग्लादेश के मंत्री ने कहा कि भारत से मिली वित्तीय मदद के साथ उनके देश के ब्राह्मणबाड़िया जिले में तितास और भैरव नदियों पर दूसरे रेल पुल का निर्माण पूरा हो गया है और इसका उद्घाटन शीघ्र किया जाएगा.

उन्होंने कहा कि ढाका और कोलकाता के बीच चलने वाली मैत्री एक्सप्रेस के अतिरिक्त दूसरी ट्रेन बंधन एक्सप्रेस खुलना (बांग्लादेश) और कोलकाता के बीच चलेगी और इसकी शुरुआत अगले महीने होने की संभावना है.

हक ने कहा, ‘‘राजशाही (बांग्लादेश) और कोलकाता को जोड़ने के लिए ढाका की तरफ से एक ट्रेन शुरू किए जाने का प्रस्ताव है.’’ उन्होंने बताया कि 15 किलोमीटर लंबी अगरतला-अखौरा परियोजना का काम संतोषजनक है और इसके लिए बांग्लादेश की तरफ भूमि अधिग्रहण का काम पूरा हो गया है. भारत की तरफ भी इस परियोजना के लिए जमीन अधिकरण का काम पूरा हो गया है. भारत की तरफ से केंद्र सरकार ने भूमि अधिग्रहण के लिए 97.63 करोड़ रुपये जारी किए हैं.

हक ने कहा कि अगरतला को बांग्लादेश में अखौरा से जोड़ने के लिए रेल पटरी बिछाने की प्रक्रिया अगले साल पूरी हो जाएगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi