S M L

एशिया में अभी भी भूख से जूझ रहे हैं 48.6 करोड़ लोग : संयुक्त राष्ट्र

मलेशिया की राजधानी कुआलालंपुर में भी गरीब परिवार अपने बच्चों के लिए अच्छा खाना नहीं जुटा पाते हैं

Updated On: Nov 02, 2018 02:39 PM IST

Bhasha

0
एशिया में अभी भी भूख से जूझ रहे हैं 48.6 करोड़ लोग : संयुक्त राष्ट्र

तेजी से हो रहे आर्थिक विकास के बावजूद एशिया-प्रशांत क्षेत्र में अभी भी करीब 50 करोड़ लोग भूख से जूझ रहे हैं. संयुक्त राष्ट्र की ओर से जारी एक रिपोर्ट में यह बात कही गई है कि इन क्षेत्रों में खाद्य सुरक्षा और बुनियादी जीवन स्तर में सुधार संबंधी प्रगति थम सी गई है.

खाद्य और कृषि संगठन तथा संयुक्त राष्ट्र की तीन अन्य एजेंसियों द्वारा संकलित इस रिपोर्ट में कहा गया है कि तुलनात्मक रूप से बेहतर शहरों जैसे बैंकॉक और मलेशिया की राजधानी कुआलालंपुर में भी गरीब परिवार अपने बच्चों के लिए अच्छा खाना नहीं जुटा पाते हैं. इसका उनके स्वास्थ्य और भविष्य में उत्पादकता पर गंभीर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है.

बैंकॉक में 2017 में एक तिहाई से ज्यादा बच्चों को पर्याप्त मात्रा में भोजन नहीं मिल रहा था. रिपोर्ट में एक सरकारी सर्वेक्षण के हवाले से कहा गया है कि पाकिस्तान में महज चार फीसदी बच्चों को न्यूनतम स्वीकार्य भोजन मिल रहा है.

कुछ महीने पूर्व ही संयुक्त राष्ट्र की खाद्य एजेंसी के प्रमुख डेविड बीसली ने बताया था कि भूख से जूझ रहे तकरीबन तीन करोड़ 20 लाख लोग चार संघर्षरत देश सोमालिया, यमन, दक्षिण सूडान और उत्तर पूर्व नाइजीरिया में रह रहे हैं. इन देशों को पिछले साल किसी तरह अकाल की स्थिति से बचा लिया गया था.

बीसली ने कहा था कि वैश्विक रूप से लंबे समय से भूखे 81 करोड़ 50 लाख लोगों में से 60 फीसदी लोग संघर्षरत इलाकों में रहते हैं और उन्हें यह पता नहीं होता कि अगली बार खाना कहां से मिलेगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi