S M L

पाकिस्तान में रावी नदी में विसर्जित की गईं कुलदीप नैयर की अस्थियां

वरिष्ठ भारतीय पत्रकार कुलदीप नैयर की अस्थियां पाकिस्तान में रावी नदी में विसर्जित कर दी गई.

Updated On: Oct 06, 2018 02:59 PM IST

Bhasha

0
पाकिस्तान में रावी नदी में विसर्जित की गईं कुलदीप नैयर की अस्थियां

वरिष्ठ भारतीय पत्रकार कुलदीप नैयर की अस्थियां पाकिस्तान में रावी नदी में विसर्जित कर दी गई. नैयर का 23 अगस्त को दिल्ली में निधन हो गया था. उनकी पोती और पत्रकार मंदिरा ने रावी नदी में अस्थियां विसर्जित कीं. बाद में वह लाहौर प्रेस क्लब गईं जहां उन्हें क्लब की मानद सदस्यता दी गई. उनके दादा के बाद वह इस सम्मान को पाने वाली दूसरी भारतीय हैं.

मंदिरा ने कहा, 'मेरे दादा नई दिल्ली प्रेस क्लब के सदस्य नहीं थे लेकिन लाहौर प्रेस क्लब के थे. हालांकि वह दिल्ली में रहते थे लेकिन वह आध्यात्मिक रूप से लाहौर से जुड़े थे. लाहौर में रावी नदी में अस्थियां विसर्जित करने की उनकी इच्छा इस स्थान से उनके आध्यात्मिक जुड़ाव की गवाह है.'

किताबें भी लिखी

भारतीय पत्रकारीता की दुनिया में मशहूर कुलदीप नैयर का जन्म 14 अगस्त, 1923 को सियालकोट (अब का पाकिस्तान) में हुआ था. उन्होंने यूएस से पत्रकारिता की डिग्री ली थी. कई वर्षों तक भारत सरकार के प्रेस सूचना अधिकारी रहने वाले कुलदीप ने बाद में पत्रकारिता के क्षेत्र में कदम रखा. कुलदीप नैयर पत्रकारिता जगत में कई दशकों तक सक्रिय रहे. उन्होंने इमरजेंसी से लेकर देश में हुई अन्य प्रमुख घटनाओं पर कई किताबें भी लिखी हैं.

बता दें कि यह पहली बार नहीं था कि किसी भारतीय की अस्थियां पाकिस्तान की किसी नदी में विसर्जित की गईं. साल 2008 में भारतीय शांति और मानवाधिकार कार्यकर्ता निर्मला देशपांडे की अस्थियां भी पाकिस्तान की नदी में विसर्जित की गई थीं. दरअसल, उन्होंने विभिन्न एशियाई देशों में अपनी अस्थियां विसर्जित करने की इच्छा व्यक्त की थी क्योंकि वह हमेशा दक्षिण एशिया को परमाणु हथियारों से मुक्त क्षेत्र बनाना चाहते थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi