S M L

भगोड़े मेहुल चोकसी को भारत भेजने पर विचार कर सकती है एंटीगा सरकार

चीफ ऑफ स्टाफ लियोनल ‘मैक्स’ हर्स्ट की ओर से जारी कैबिनेट की प्रेस ब्रीफिंग में कहा गया है कि एंटीगा और बारबूडा सरकार भारत की तरफ से किए गए ‘वैध’ अनुरोध का ‘कानून के मुताबिक’ सम्मान करने के लिए हर संभव कोशिश करेगी

FP Staff Updated On: Aug 05, 2018 08:33 PM IST

0
भगोड़े मेहुल चोकसी को भारत भेजने पर विचार कर सकती है एंटीगा सरकार

एंटीगा सरकार ने संकेत दिया है कि वह भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी के मामा मेहुल चोकसी को भारत वापस भेजने के ‘वैध अनुरोध’ पर विचार कर सकती है. चोकसी ने एंटीगा की नागरिकता ले ली है.

अखबार डेली ऑब्जर्वर ने चीफ ऑफ स्टाफ लियोनल ‘मैक्स’ हर्स्ट की ओर से जारी कैबिनेट की प्रेस ब्रीफिंग में कहा गया है कि एंटीगा और बारबूडा सरकार भारत की तरफ से किए गए ‘वैध’ अनुरोध का ‘कानून के मुताबिक’ सम्मान करने के लिए हर संभव कोशिश करेगी.

अखबार ने कहा कि भारत में हजारों करोड़ के बैंक घोटाले के आरोपी भगोड़े चोकसी के पिछले साल नवंबर में एंटीगा की नागरिकता हासिल करने के मुद्दे पर एंटीगा और बारबूडा सरकार की कैबिनेट की बैठक में चर्चा हुई.

अखबार ने कहा कि चोकसी के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी करने की सीबीआई की अर्जी इंटरपोल के पास लंबित है और उम्मीद है कि इसे जल्द ही जारी कर दिया जाएगा. कैबिनेट ने यह बताया कि उनकी भारत के साथ प्रत्यर्पण संधि नहीं है और चोकसी पर किसी अपराध के लिए मामला दर्ज नहीं है. अखबार ने यह भी कहा कि कैबिनेट ने इस बात पर भी संज्ञान लिया कि एंटीगा और बारबूडा सरकार से चोकसी के खिलाफ किसी तरह की कार्रवाई का कोई अनुरोध नहीं किया गया है.

इधर भारत में ईडी की अर्जी पर सीबीआई ने नीरव मोदी और मेहुल चोकसी को भगोड़ा आर्थिक अपराधी कानून के तहत समन देकर क्रमश: 25 सितंबर और 26 सितंबर को पेश होने को कहा है.

ईडी की अर्जी में इन दोनों के खिलाफ नए भगोड़ा आर्थिक अपराधी कानून के तहत दो अरब डॉलर पीएनबी धोखाधड़ी मामले में दोनों के खिलाफ कार्रवाई का आग्रह किया गया है. इस कानून के तहत सरकार को देश की कानूनी एजेंसियों से बचने के लिए विदेश भागे आर्थिक अपराधियों की संपत्ति जब्त कर उसे बेचने का अधिकार है.

सीबीआई ने हाल ही में अदालत में अर्जी लगा कर इन दोनों हीरा कारोबारियों को भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित करने और उसकी 3,500 करोड़ रुपए की संपत्ति जब्त करने का आदेश देने का आग्रह किया था. अधिकारियों के मुताबिक अदालत ने नीरव मोदी को 25 सितंबर को और मेहुल चोकसी को अगले दिन हाजिर होने का सम्मन जारी किया है.

(इनपुट न्यूज18 और भाषा से)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
'हमारे देश की सबसे खूबसूरत चीज 'सेक्युलरिज़म' है लेकिन कुछ तो अजीब हो रहा है'- Taapsee Pannu

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi