S M L

मलेशिया में भारतीय मूल के वकील बने नए अटॉर्नी जनरल

थॉमस को संवैधानिक और दीवानी मामलों के कानूनी विशेषज्ञ के तौर पर जाना जाता है. वह पिछले 42 वर्षों से मलेशिया में वकील है

Bhasha Updated On: Jun 05, 2018 03:31 PM IST

0
मलेशिया में भारतीय मूल के वकील बने नए अटॉर्नी जनरल

मलेशिया में इस्लामिक समूहों के विरोध के बावजूद भारतीय मूल के एक शीर्ष वकील टॉमी थॉमस को मंगलवार को देश का नया अटॉर्नी जनरल नियुक्त किया गया.

मलेशिया के सुल्तान मोहम्मद पंचम ने थॉमस की नियुक्ति को मंजूरी देते हुए लोगों से इस फैसले पर धार्मिक या नस्लीय संघर्ष पैदा ना करने की अपील की. मालूम हो इस्लामिक समूह यह पद किसी मुस्लिम व्यक्ति को देने की मांग कर रहे हैं.

शाही महल से जारी एक बयान के अनुसार, सुल्तान मोहम्मद पंचम ने मौजूदा अटॉर्नी जनरल मोहम्मद अपांडी अली की सेवाओं को समाप्त करके उनकी जगह टॉमी थॉमस को नियुक्त किया है. थॉमस 55 वर्षों में इस पद पर नियुक्त पहले अल्पसंख्यक व्यक्ति हैं.

देश की आधिकारिक बेरनामा समाचार एजेंसी ने कहा कि प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद ने हाल ही में अटॉर्नी जनरल के तौर पर 66 वर्षीय थॉमस के नामांकन का प्रस्ताव दिया था.

सुल्तान ने मलेशिया के सभी नागरिकों से यह फैसला स्वीकार करने की अपील करते हुए कहा कि अटॉर्नी जनरल की नियुक्ति से कोई धार्मिक या नस्लीय संघर्ष पैदा ना हो क्योंकि प्रत्येक मलेशियाई व्यक्ति के साथ नस्ल और धर्म की परवाह किए बगैर निष्पक्ष व्यवहार होना चाहिए.

एजेंसी ने कहा कि शीर्ष कानूनी अधिकारी के तौर पर थॉमस की नियुक्ति से मलेशियाई लोगों के विशेष अधिकारों के साथ-साथ इस्लाम के दर्जें पर कोई असर नहीं पड़ेगा. थॉमस को संवैधानिक और दीवानी मामलों के कानूनी विशेषज्ञ के तौर पर जाना जाता है.

वह पिछले 42 वर्षों से मलेशिया में वकील है. कुआलालम्पुर में जन्मे थॉमस विक्टोरिया इंस्टीट्यूशन, यूनिवर्सिटी ऑफ मैनचेस्टर और लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स के पूर्व छात्र रह चुके हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi