S M L

मुस्लिम देशों पर डोनाल्ड ट्रंप के ट्रैवल बैन को US सुप्रीम कोर्ट ने ठहराया सही

अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट ने निचली अदालतों के फैसले को पलटते हुए 5-4 से ट्रैवल बैन को सही ठहराया, निचली अदालतों ने ट्रंप के इस फैसले को असंवैधानिक करार दिया था

Updated On: Jun 26, 2018 10:04 PM IST

FP Staff

0
मुस्लिम देशों पर डोनाल्ड ट्रंप के ट्रैवल बैन को US सुप्रीम कोर्ट ने ठहराया सही

अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को दिए अपने फैसले में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा कई मुस्लिम देशों पर लगाए गए ट्रैवल बैन को बरकरार रखा है. बैन के साथ ही कोर्ट ने उस दावे को भी खारिज कर दिया जिसमें कहा जा रहा था कि यह मुस्लिमों के साथ भेदभाव है. साथ ही साथ सुप्रीम कोर्ट ने यह भी कहा कि मुस्लिम देशों के नागरिकों को अमेरिका में नहीं आने देने का ट्रंप का निर्णय पूरी तरह राष्ट्रपति के आधिकारिक दायरे में आता है.

अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट ने निचली अदालतों के फैसले को पलटते हुए 5-4 से ट्रैवल बैन को सही ठहराया. निचली अदालतों ने ट्रंप के इस फैसले को असंवैधानिक करार दिया था.

फैसला लिखने वाले चीफ जस्टिस जॉन रॉबर्ट्स ने कहा कि राष्ट्रपति के पास इमिग्रेशन पॉलिसी को रेगुलेट करने का अधिकार होता है. उन्होंने इस दावे को भी खारिज कर दिया कि यह मुस्लिमों के खिलाफ पक्षतापूर्ण है. हालांकि, चीफ जस्टिस ने मुस्लिम इमिग्रेशन के खिलाफ किए गए राष्ट्रपति ट्रंप की टिप्पणियों का समर्थन करने से बचते नजर आए.

सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले पर राष्ट्रपति ट्रंप ने ट्वीट करते हुए अपनी खुशी जाहिर की. उन्होंने लिखा कि सुप्रीम कोर्ट ने ट्रैवल बैन के फैसले को बरकरार रखा. वाह.

पिछले साल दिसंबर में सुप्रीम कोर्ट के 9 जजों की बेंच ने इस फैसले का समर्थन करते हुए इसे पूरी तरह लागू करने का निर्देश दिया था. तब से ही ईरान, लीबिया, सोमालिया, सीरिया और यमन के नागरिकों के अमेरिका जाने पर प्रतिबंध लगाया गया है. ट्रंप प्रशासन ने अपने ट्रैवल बैन नीतियों में कई संशोधन भी किए थे. पहले इसमें इराक और चाड को भी शामिल किया गया था लेकिन बाद में इन देशों को लिस्ट से हटा दिया गया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi