S M L

कभी जानी दुश्मन रहे थे ट्रंप और किम जोंग, अब ट्विटर पर हैं जय-वीरू जैसे दोस्त

ताजा हालात यह हैं कि अब किम जोंग की तारीफ करते हुए ट्रंप नहीं थकते और किम जोंग भी अपनी परमाणु शक्ति का दम नहीं भरते.

Updated On: Aug 02, 2018 07:37 PM IST

FP Staff

0
कभी जानी दुश्मन रहे थे ट्रंप और किम जोंग, अब ट्विटर पर हैं जय-वीरू जैसे दोस्त

एक दौर था जब लोग दोस्ती के लिए जय और वीरू की मिसाल दिया करते थे. फिर एक दौर आया जब लोग दुश्मनी के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग की मिसाल देने लगे. लेकिन दौर तो बदलता ही रहता है. ताजा हालात यह हैं कि अब किम जोंग की तारीफ करते हुए ट्रंप नहीं थकते और किम जोंग भी अपनी परमाणु शक्ति का दम नहीं भरते.

मामला ट्रंप के हालिया ट्विटर अकाउंट को देखने के बाद उठा है. ट्रंप अपने ट्विटर पर किम जोंग को बार-बार बधाई दे रहे हैं. दरअसल ट्रंप ने किम जोंग को अमेरिकी सैनिकों के अवशेष लौटाने के लिए धन्यवाद दिया है और उन्होंने किम से दोबारा मुलाकात करने की आशा जताई है.

उत्तर कोरिया में 1950 से 1953 के बीच जो अमेरिकी सैनिक मारे गए थे, किम ने उनके अवशेषों को वापस अमेरिका भेजने की प्रक्रिया शुरू कर दी है. उत्तर कोरिया ने 55 बॉक्स में अमेरिकी सैनिकों के अवशेष भेजे हैं. एक अंदाजे के मुताबिक करीब 5300 सैनिकों के अवशेष अभी तक उत्तर कोरिया में हैं.

ट्रंप ने किम के इस कदम का स्वागत करते हुए कहा, 'बहुत बहुत शुक्रिया किम जोंग, आपने हमारे महान सैनिकों के अवशेषों को वापस भेजने की प्रक्रिया शुरू की. आपने जो किया, उस पर मुझे बिल्कुल भी आश्चर्य नहीं है. आपके बेहतरीन पत्र के लिए भी आपको बधाई, मैं बहुत जल्द आपसे मिलना चाहता हूं.'

आपको बता दें कि परमाणु गतिरोध के बाद किम जोंग और डोनाल्ड ट्रंप ने सिंगापुर में 12 जून 2018 को पहली मुलाकात की थी. इस मुलाकात से पहले दोनों नेताओं के बीच गरमागरम बयानबाजी होती रहती थी लेकिन इस मुलाकात के बाद से दोनों जय-वीरू की तरह सच्चे दोस्त बनकर सामने आएं हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi