S M L

UN में अमेरिका और अपनी शेखी बघार रहे थे डोनाल्ड ट्रंप, लेकिन उड़ गया मजाक

ट्रंप ने जब अपने भाषण में कहा कि उनकी सरकार ने जितना काम किया है, उतना किसी अमेरिकी राष्ट्रपति ने नहीं, तो सभा में लोगों की हंसी छूट पड़ी

Updated On: Sep 26, 2018 02:07 PM IST

FP Staff

0
UN में अमेरिका और अपनी शेखी बघार रहे थे डोनाल्ड ट्रंप, लेकिन उड़ गया मजाक

मंगलवार को संयुक्त राष्ट्र की महासभा में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का एक डर सच हो गया, वो भी बहुत शर्मिंदा कर देने वाला. ट्रंप ने यूएन में अपने भाषण की मुश्किल से पांच लाइनें ही बोली होंगी कि उनके दावों पर महासभा में बैठे दुनिया भर के नेता हंसने लगे.

मंगलवार को यूनाइटेड नेशन्स की सभा में डोनाल्ड ट्रंप अमेरिका फर्स्ट के एजेंडे की याद दिला रहे थे और अमेरिकी सेना को दुनियाभर में सबसे ताकतवर बता रहे थे लेकिन लगता है कि सभा में मौजूद दुनिया भर के नेता ट्रंप की बातों को गंभीरता से लेने को तैयार नहीं थे और हंसने लगे.

ट्रंप के लिए ये बुरा सपना सच होने जैसा इसलिए था क्योंकि ट्रंप सालों से अपने पूर्व राष्ट्रपतियों की आलोचना करते रहे हैं. वो कहते थे कि 'पूरी दुनिया हमपर हंस रही है. सीएनएन की रिपोर्ट के मुताबिक, अभी पिछले साल जून में ही उन्होंने पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा को निशाने पर लेते हुए कहा था कि कमजोर राष्ट्रपति होने के चलते पूरी दुनिया हम पर हंस रही थी. हमें ऐसा कोई नेता नहीं चाहिए, जिस पर दुनिया वाले हंंसे. वो हम पर नहीं हंसेंगे.' लेकिन इस बार ट्रंप पर दुनिया भर के नेता हंसे वो भी यूएन की महासभा में.

पहले तो परंपरा तोड़ी, फिर उड़वा लिया मजाक

बता दें कि ट्रंप अपने भाषण के लिए देर से पहुंचे थे, जिसके लिए चलते-चलते कार्यक्रम में थोड़े बदलाव करने पड़े थे. इससे उन्होंने एक परंपरा भी तोड़ी. दरअसल, यूएन की महासभा में अमेरिकी राष्ट्रपति का संबोधन दूसरे नंबर पर होता है लेकिन ट्रंप ने ये परंपरा तोड़ दी.

खैर, ट्रंप ने अपने भाषण में अमेरिका की इकोनॉमी की रिपोर्ट पेश करनी शुरू की. उन्होंने ये बताना शुरू किया कि उनके सत्ता में आने के बाद से अमेरिका ने कितनी तरक्की कर ली है.

उन्होंने कहा कि अमेरिका की सेना अभी उतनी मजबूत है, जितनी पहले कभी नहीं थी. अमेरिकी अर्थव्यवस्था पर आर्थिक आंकड़ें गिनाते हुए ट्रंप ने कहा, 'दो सालों के अंदर मेरी सरकार ने इतनी उपलब्धियां हासिल कर ली हैं, जितनी अमेरिकी इतिहास के किसी और राष्ट्रपति प्रशासन ने नहीं किया है.'

चौंक कर संभले ट्रंप

अभी ट्रंप ने इतना बोला ही था कि सभा में कोई मुस्कुराता नजर आया तो कुछ की हंसी छूट पड़ी. ट्रंप इस प्रतिक्रिया से चौंक गए. हालांकि उन्होंने तुरंत खुद को संभाल लिया और मुस्कुराते हुए बोले, 'मैंने इस प्रतिक्रिया की उम्मीद नहीं की थी लेकिन ठीक है कोई बात नहीं.' इस पर थोड़ी हंसी और सुनाई दी.

अमेरिका में मिडटर्म इलेक्शन करीब आ गए हैं. ट्रंप लगातार अपनी सरकार की लंबी-चौड़ी उपलब्धियां गिना रहे हैं. उन्होंने खुद को अमेरिका के महान नेताओं की तुलना में भी रख लिया है. उन्होंने 2016 के चुनावों को अमेरिका के इतिहास का महान क्षण भी बता दिया है लेकिन लग रहा है कि ट्रंप भूल गए कि वो यूएन की महासभा में पूरी दुनिया के सामने बोल रहे हैं, न कि किसी अमेरिकी राज्य की किसी रैली में, जिसमें उनके समर्थक 'मेक अमेरिका ग्रेट अगेन' की लाल टोपी लगाकर उनके समर्थन में नारे लगाते हैं.

हकीकत ये है कि ट्रंप ने अमेरिका फर्स्ट के एजेंडे के तहत इस विश्व नेता को अलग-थलग कर दिया है. उनकी नीतियों ने उनके घर और बाहर उनके सहयोगियों में दरारें पैदा की हैं. वो पहले ही अमेरिका को पेरिस क्लाइमेट समझौते से अलग कर लिया है, उन्होंने नाटो पर सवाल उठाए हैं. साथ ही वो टैरिफ लगाकर दूसरे देशों के साथ अपने व्यापारिक संबंधों को प्रभावित कर रहे हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi