S M L

नॉर्थ कोरिया ने फोड़ा हाइड्रोजन बम, अमेरिका जवाब देने की तैयारी में

उत्तर कोरिया ने रविवार को दावा किया कि उसने हाइड्रोजन बम का सफलतापूर्वक परीक्षण किया है

Bhasha Updated On: Sep 04, 2017 12:17 PM IST

0
नॉर्थ कोरिया ने फोड़ा हाइड्रोजन बम, अमेरिका जवाब देने की तैयारी में

उत्तर कोरिया ने रविवार को अब तक का सबसे शक्तिशाली परमाणु परीक्षण किया और दुनिया को बताया कि उसने हाइड्रोजन बम बना लिया है. यह एक ऐसा हथियार है, जो अमेरिका में कहीं भी हमला कर सकता है. इस बारे में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प से जब पूछा गया कि क्‍या अमेरिका अब उत्तर कोरिया पर हमला करेगा तो वह बोले, ‘देखते हैं.’

उन्होंने उम्मीद जताई कि बीजिंग अपने पड़ोसी देश उत्तर कोरिया पर दबाव बनाएगा. ट्रम्प ने ट्वीट किया कि अमेरिका ‘उत्तर कोरिया के साथ व्यवसाय करने वाले किसी भी देश से व्यापार बंद करने पर विचार कर रहा है.’

उत्तर कोरिया का छठा परमाणु परीक्षण

उत्तर कोरिया ने रविवार को दावा किया कि उसने हाइड्रोजन बम का सफलतापूर्वक परीक्षण किया है. इसे अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल (आईसीबीएम) में लोड किया जा सकता है. सीएनएन के मुताबिक, यह देश का छठा और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के पद संभालने के बाद पहला परमाणु परीक्षण है.

अमेरिकी भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण के मुताबिक, हाइड्रोजन बम के परीक्षण का ऐलान उत्तर कोरिया में रिक्टर पैमाने पर 6.3 तीव्रता के कृत्रिम भूकंप के झटके के बाद आया है. इसका इलाका देश का पूर्वोत्तर रहा जो परीक्षण स्थल पुंगये-री से ज्यादा दूर नहीं है.

भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 5.7 मापी गई

कोरिया के मौसम विभाग ने शुरुआत में भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 5.7 मापी और बताया कि भूकंपीय झटके दोपहर 12.36 बजे दर्ज किए गए.

 रूस में भी भूंकप के झटके

जापान के अधिकारियों के मुताबिक, ये झटके पिछले साल सितंबर में उत्तर कोरिया द्वारा किए गए परमाणु परीक्षण से 10 गुना अधिक शक्तिशाली थे.परमाणु परीक्षण प्रतिबंध संधि संगठन के कार्यकारी सचिव लासिना जर्बो ने कहा कि 34 से अधिक स्टेशनों ने भूकंपीय झटके महसूस किए. झटके इतने शक्तिशाली थे कि इन्हें दूर रूस के व्लादिवोस्तोक में भी महसूस किया गया. एक स्थानीय नागरिक ने सीएनएन से यह बात कही.

'परमाणु परीक्षण को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा'

जापान के विदेश मंत्री तारो कोनो ने जापान के मौसम विभाग की ओर से उपलब्ध कराए गए आंकड़ों के आधार पर इस परीक्षण की पुष्टि की. जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने कहा कि परमाणु परीक्षण को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

दक्षिण कोरिया की सेना हाई अलर्ट पर

दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति कार्यालय ने इस मुद्दे पर तुरंत राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद की बैठक बुलाई. दक्षिण कोरिया के ज्वाइंट चीफ ऑफ स्टाफ ने कहा कि दक्षिण कोरिया की सभी सेनाओं को हाई अलर्ट पर रखा गया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi