S M L

अमेरिका: शटडाउन से जूझ रहे अधिकारियों को सिख समुदाय ने मुफ्त में खिलाए दाल-चावल

सिख समुदाय की इस मुहीम के बारे में सुनते ही कई लोग खुद भी इससे जुड़ने, खाना खिलाने और बनाने की पेशकश करने लगे

Updated On: Jan 16, 2019 06:40 PM IST

FP Staff

0
अमेरिका: शटडाउन से जूझ रहे अधिकारियों को सिख समुदाय ने मुफ्त में खिलाए दाल-चावल

अमेरिका में एक शानदार नजारा देखने को मिला जब टेक्सास के सैन एंटोनियो में सिख समुदाय ने अमेरिका में चल रहे शटडाउन से प्रभावित अमेरिकी सरकारी कर्मचारियों को मुफ्त भोजन की पेशकश की. शटडाउन के कारण हजारों लोगों के पास पैसे खत्म हो गए हैं. यह सरकारी शटडाउन अब अपने चौथे सप्ताह में प्रवेश कर चुका है. इस शटडाउन के कारण प्रमुख विभागों में 8 लाख से ज्यादा संघीय सरकारी कर्मचारियों को काम से बाहर कर दिया है.

गौरतलब है कि अमेरिकी राष्ट्रपित डोनाल्ड ट्रंप यूएस-मेक्सिको की सीमा पर दीवार बनाना चाहते हैं. जिसके लिए वह 5.7 बिलियन अमरीकी डॉलर की मांग कर रहे हैं. ट्रंप के मुताबिक यह दीवार अमेरिका में अवैध प्रवासियों के प्रवाह को रोकने के लिए आवश्यक है. हालांकि डेमोक्रेट्स का कहना है कि इस तरह का कदम करदाताओं के पैसे की बर्बादी है.

अधिकारियों को सिख समुदाय ने खिलाए गर्मा-गरम दाल चावल

उन सभी संघीय कर्मचारियों को जिन्हें शटडाउन के कारण बिना तनख्वाह के काम करना पड़ रहा है, या जिन्हें अवकाश पर भेज दिया गया है, उन्हें सिख समुदाय ने 11 जनवरी को गर्मा-गरम शाकाहारी भोजन खिलाया. सिख समुदाय की यह भोजन सेवा तीन दिनों तक चली.

सिख समुदाय के लोगों ने गुरुद्वारे की तरफ से भोजन तैयार किया, जिसमें दाल, सब्जियां, चावल और रोटी शामिल थी. इसके बाद सिख सेंटर ने फेसबुक पर पोस्ट किया, 'शटडाउन से प्रभावित लोगों और उनके परिवारों को आज से शुरू होने वाले मुफ्त भोजन के लिए आमंत्रित किया गया है. आप सभी इस वीकेंड पर आमंत्रित हैं.'

कई अमेरिकी परिवारों के लिए कठिनाई के इस दौर के दौरान मदद की पेशकश करने की समुदाय की इस मुहीम की शुरुआत ने कई लोगों को आकर्षित किया. इसके बाद जल्द ही कई स्वयंसेवकों ने खाने के लिए आने वाले लोगों को खिलाने और खाना पकाने की पेशकश की.

सिख समुदाय ने किया हर संभव मदद का वादा

सैन एंटोनियो के इस सिख सेंटर के प्रमुख ने कहा, 'सिख समुदाय उन संघीय कर्मचारियों की मदद करने के लिए तत्पर है जिन्हें उनकी तनख्वाह नहीं मिली है. इसके अलावा, सिख समुदाय उनकी सेवाओं की सराहना करता है और राष्ट्र के लिए एक अद्भुत सेवा करने के लिए उन पुरुषों और महिलाओं का आभार मानता है.'

उन्होंने कहा, 'फिलहाल कम से कम हम इतना कर सकते हैं कि अगले तीन दिनों के लिए आपको गर्म भोजन उपलब्ध करा सकते हैं.' सैन एंटोनियो का सिख सेंटर शहर का सबसे पुराना गुरुद्वारा है और इसे 2001 में स्थापित किया गया था. यह किसी भी जरूरतमंद नए प्रवासियों को भोजन, कपड़े और आश्रय भी प्रदान करता है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi