S M L

अमेरिका को भारतीय नजरिए से पाकिस्तान के संबंधों को नहीं देखना चाहिए : कुरैशी

पाकिस्तान ने भारत के साथ बातचीत शुरू कराने में भूमिका अदा करने के लिए अमेरिका से अनुरोध किया. हालांकि अमेरिका ने पाकिस्तान का यह अनुरोध ठुकरा दिया

Updated On: Oct 12, 2018 07:32 PM IST

Bhasha

0
अमेरिका को भारतीय नजरिए से पाकिस्तान के संबंधों को नहीं देखना चाहिए : कुरैशी

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा है कि अमेरिका को पाकिस्तान के साथ उसके संबंधों को भारतीय नजरिए से या अफगानिस्तान परिप्रेक्ष्य में नहीं देखना चाहिए. पाकिस्तान और अमेरिका के संबंधों में इस साल जनवरी में बहुत गिरावट आई थी. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने आरोप लगाया था कि पाकिस्तान ने अमेरिका को 'झूठ और धोखे' के सिवा कुछ भी नहीं दिया और आतंकवादियों को सुरक्षित पनाहगाह मुहैया कराया.

कुरैशी ने शनिवार को कहा, ‘अमेरिका के साथ संबंध धीरे-धीरे सुधर रहे हैं. मैंने अमेरिकी अधिकारियों से साफ कर दिया कि पाकिस्तान आपसी सम्मान और सहयोग के आधार पर वाशिंगटन के साथ द्विपक्षीय संबंध बनाना चाहता है.’

उन्होंने यह भी कहा कि यह उम्मीद करना गलत होगा कि अमेरिका और पाकिस्तान के बीच सभी मतभेदों को एक दिन में सुलझाया जा सकता है. अमेरिका की अपनी 10 दिवसीय यात्रा से लौटने के बाद मुल्तान में उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘भारत के नजरिए या अफगान परिप्रेक्ष्य से सात दशकों तक हमारे (अमेरिका-पाकिस्तान) संबंधों को देखना उचित नहीं होगा.’

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने बताया कि उनका देश ने भारत के साथ बातचीत शुरू कराने में भूमिका अदा करने के लिए अमेरिका से अनुरोध किया. उन्होंने कहा, हमारे बीच द्विपक्षीय बातचीत अभी बंद है. इसलिए हमने अमेरिका से बातचीत में भूमिका निभाने के लिए कहा. हालांकि अमेरिका ने पाकिस्तान का यह अनुरोध ठुकरा दिया.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi