S M L

अमेरिका में फिर नस्लीय हमला, एक सिख को मारी गोली

हमलावर ने सिख शख्स के बाजू में गोली मार दी

Updated On: Mar 05, 2017 10:21 AM IST

Bhasha

0
अमेरिका में फिर नस्लीय हमला, एक सिख को मारी गोली

अमेरिका में एक अज्ञात व्यक्ति ने 39 साल के एक सिख को उसी के घर के बाहर गोली मारकर घायल कर दिया. हमलावर ने गोली चलाते समय कथित तौर पर कहा, ‘अपने देश वापस जाओ.’

सिएटल टाइम्स की खबर के अनुसार, यह सिख व्यक्ति शुक्रवार को वाशिंगटन के केंट शहर में अपने घर के बाहर अपनी गाड़ी ठीक कर रहा था, तभी वहां एक अज्ञात व्यक्ति आ गया.

केंट पुलिस के मुताबिक, दोनों व्यक्तियों के बीच कहासुनी हुई. पीड़ित का कहना है कि संदिग्ध व्यक्ति ने ‘अपने देश वापस जाओ’ जैसी बातें कहीं. इसके बाद पीड़ित की बाजू में गोली मार दी.

पीड़ित ने बताया कि हमलावर छह फुट लंबा एक श्वेत आदमी था. उसने अपने चेहरे के निचले हिस्से को एक नकाब से ढंक रखा था.

केंट पुलिस प्रमुख केन थॉमस ने कहा कि सिख व्यक्ति को हालांकि कोई ‘जानलेवा चोट नहीं आई’ है. लेकिन वे ‘इसे एक बेहद गंभीर घटना के तौर पर देख रहे हैं.’

थॉमस ने कहा, ‘हमारी जांच अभी शुरूआती चरण में है.’ केंट पुलिस कमांडर जेरोड कासनेर ने कहा कि सिख समुदाय और अन्य इस घटना पर नजर बनाए हुए हैं.

रिपोर्ट में कहा गया कि केंट पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है और इसके लिए एफबीआई और अन्य लॉ इनफोर्समेंट से संपर्क किया है.

समुदाय में फैल रही है असुरक्षा की भावना

कासनेर ने कहा, ‘देशभर में हालिया तनाव और चिंता के कारण लोग इससे भावनात्मक रूप से जुड़ सकते हैं, खासतौर पर तब जब अपराध एक किसी व्यक्ति के जीने के तरीके और उसके रूप-रंग, वेशभूषा को लेकर किया गया हो.’

यह घटना भारतीय समुदाय के खिलाफ किए गए घृणा अपराधों की श्रृंखला में सबसे हालिया अपराध है. पिछले ही माह कंसास में 32 वर्षीय भारतीय इंजीनियर श्रीनिवास कुचिभोटला की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.

अमेरिकी नौसेना के पूर्व सैनिक एडम पुरिन्टन (51) ने श्रीनिवास और उसके दोस्त आलोक मदसानी को गोली मारने के बाद कहा था कि ‘मेरे देश से बाहर निकलो’.

इस सप्ताह की शुरुआत में भारतीय मूल के एक स्टोर मालिक हरनीश पटेल (43) मृत अवस्था में पाए गए थे. उनके शरीर पर गोलियाें के घाव थे.

11 सितंबर के बाद सिखों पर हमलों की याद दिला रहा है ये वक्त

रेंटन में सिख समुदाय के नेता जसमीत सिंह ने कहा कि उन्हें बताया गया है कि पीड़ित को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है.

उन्होंने कहा कि पीड़ित और उसका परिवार इस घटना से हिले हुए हैं. उन्होंने कहा, ‘अभी जो कुछ भी चल रहा है, उसमें हम नुकसान की स्थिति में हैं. घृणा का जो माहौल पैदा कर दिया गया है, वह किसी के बीच फर्क नहीं करता.’

सिंह ने आगे कहा कि उनके समुदाय के लोगों ने गाली गलौज की घटनाओं में इजाफे की जानकारी दी है. उन्होंने कहा, 'यह गाली-गलौज एक तरह का पूर्वाग्रह है, विदेशियों से लगने वाला डर है, जो हमने पहले कभी नहीं देखा.’

सिंह ने कहा कि सिख समुदाय को निशाना बनाकर किए जाने वाली घटनाएं 11 सितंबर के आतंकी हमलों के बाद हुए हमलों की याद दिलाती है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi