In association with
S M L

मिसाइल टेस्ट पर अमेरिका की उत्तर कोरिया को नेस्तनाबूद करने की धमकी

व्हाइट हाउस का कहना है कि उत्तर कोरिया बैलिस्टिक मिसाइल का टेस्ट कर विश्व के सामने एक गंभीर खतरा पेश कर रहा है

Bhasha Updated On: Nov 30, 2017 06:06 PM IST

0
मिसाइल टेस्ट पर अमेरिका की उत्तर कोरिया को नेस्तनाबूद करने की धमकी

अमेरिका ने उत्तर कोरिया को धमकी दी कि यदि उसके मिसाइल परीक्षण से युद्ध की स्थिति बनती है तो उसे ‘नेस्तनाबूद’ कर दिया जाएगा. साथ ही उसने किम जोंग उन पर दबाव बनाने के लिए अन्य सभी देशों से अपील की है कि वह प्योंगयांग से आर्थिक और कूटनीतिक रिश्ते तोड़ दे ताकि उसे इस ‘भड़काने वाली कार्रवाई’ के लिए दंडित किया जा सके.

व्हाइट हाउस का कहना है कि उत्तर कोरिया अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल (आईसीबीएम) का प्रक्षेपण कर विश्व के सामने एक गंभीर खतरा पेश कर रहा है.

इस मसले पर बुलाई गई संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) की एक आकस्मिक बैठक में अमेरिकी दूत निक्की हेली ने कहा कि हाल में किए गए बैलिस्टिक मिसाइल परीक्षण के बाद उत्तर कोरिया दुनिया को युद्ध के निकट ले आया है. इसकी पहुंच अमेरिका की मुख्य भूमि तक है और यह बहुत आधुनिक मिसाइल है.

मंगलवार को उत्तर कोरिया ने सैन नी से इस मिसाइल का परीक्षण किया. करीब 1,000 किलोमीटर की दूरी तय करने के बाद यह जापान सागर में जा गिरी. यह जापान के आर्थिक अपवर्जन क्षेत्र में गिरी.

निक्की ने कहा कि यदि युद्ध की स्थिति आती है, तो यह भड़काने वाली लगातार कार्रवाइयों की वजह से होगा जैसी कि हमने कल देखा. यदि युद्ध होता है तो कोई त्रुटि नहीं छोड़ी जाएगी और उत्तर कोरिया को पूरी तरह नेस्तनाबूद कर दिया जाएगा.

उन्होंने कहा कि उत्तर कोरिया के तानाशाह ने दुनिया को युद्ध के और नजदीक लाने का चुनाव किया. हमने उत्तर कोरिया के साथ कभी युद्ध नहीं चाहा है और ना ही आज चाहते हैं. उत्तर कोरिया के मिसाइल परीक्षण के बाद अमेरिका, जापान और दक्षिण कोरिया ने यूएनएससी की आकस्मिक बैठक बुलाने का आह्वान किया था.

परीक्षण के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग से फोन पर बातचीत कर उत्तर कोरिया के साथ गतिरोध को कूटनीतिक तरीके से सुलझाने की अपनी इच्छा जाहिर की थी. साथ ही चीन से उत्तर कोरिया की तेल आपूर्ति को काट देने का भी अनुरोध किया.

निक्की ने कहा कि हमने उत्तर कोरिया के खिलाफ बहुपक्षीय प्रतिबंध लगाने में सफलता प्राप्त की है लेकिन उसने लगातार अधिक शक्तिशाली और नई मिसाइलों का परीक्षण करना जारी रखा. साथ ही वहअधिक मारक क्षमता योग्य परमाणु हथियार बनाने की ओर अग्रसर है. उत्तर कोरिया के मिसाइल परीक्षण के बाद उन्होंने अन्य देशों से किम जोंग उन को अलग-थलग करने की मांग की.

उत्तर कोरिया द्वारा मिसाइल परीक्षण करने के बाद ट्रंप ने कहा था कि हम इसे संभाल लेंगे.... हम इस स्थिति से निपट सकते हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
गणतंंत्र दिवस पर बेटियां दिखाएंगी कमाल!

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi