S M L

अमेरिका दुनियाभर के देशों की रक्षा करने का ठेका नहीं ले सकता: डोनाल्ड ट्रंप

अमेरिकी सैनिकों को संबोधित करने के बाद ट्रंप ने बगदाद के पश्चिम में स्थित एअर बेस पर पत्रकारों से कहा, ‘अमेरिका लगातार दुनिया की रखवाली का ठेका नहीं ले सकता

Updated On: Dec 27, 2018 11:42 AM IST

FP Staff

0
अमेरिका दुनियाभर के देशों की रक्षा करने का ठेका नहीं ले सकता: डोनाल्ड ट्रंप

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इराक की अपनी पहली यात्रा के दौरान कहा कि अमेरिका दुनिया की रखवाली का ठेका नहीं ले सकता. उन्होंने दूसरे देशों से भी जिम्मेदारियां बांटने के लिए कहा.

इराक में तैनात अमेरिकी सैनिकों से अचानक मिलने पहुंचे ट्रंप ने युद्धग्रस्त सीरिया से अपने सैनिकों को वापस बुलाने के फैसले का बचाव किया और कहा कि इसमें कोई देरी नहीं होगी.

अमेरिकी सैनिकों को संबोधित करने के बाद ट्रंप ने बगदाद के पश्चिम में स्थित एअर बेस पर पत्रकारों से कहा, ‘अमेरिका लगातार दुनिया की रखवाली का ठेका नहीं ले सकता.’

यह अमेरिकी राष्ट्रपति के तौर पर ट्रंप की पहली इराक यात्रा है. वह प्रथम महिला मेलानिया के साथ इराक के औचक दौरे पर पहुंचे. ट्रंप ने कहा कि अगर अमेरिका पर कोई और आतंकवादी हमला हुआ तो इसका ‘करारा जवाब’ दिया जाएगा.

उन्होंने सैनिकों से कहा, ‘अगर कुछ भी होता है तो जिम्मेदार लोगों को ऐसे परिणाम भुगतने पड़ेंगे जो कभी किसी ने नहीं भुगते होंगे’.

ट्रंप ने किया अपने फैसले का बचाव 

उन्होंने सीरिया से अपने सैनिकों को वापस बुलाने और बाकी क्षेत्रीय देशों खासकर तुर्की पर आईएस के खिलाफ काम पूरा करने की जिम्मेदारी छोड़ने के फैसले का बचाव करते हुए कहा, ‘यह ठीक नहीं है कि सारा बोझ हम पर डाल दिया जाए.’

ट्रंप ने पिछले हफ्ते विश्व और अपने देश को हैरत में डालते हुए अचानक घोषणा की थी कि अमेरिका, सीरिया से अपने सैनिकों को वापस बुला रहा है. उन्होंने दलील दी कि अब सीरिया में अमेरिका की जरूरत नहीं है क्योंकि आईएस को हरा दिया गया है.

ट्रंप के इस घोषणा करने पहले ही ये खबर मीडिया में लीक हो गई थी. तब अफगानिस्तान में शीर्ष अमेरिकी कमांडर ने कहा था कि सैनिकों की वापसी को लेकर उन्हें अभी तक कोई सूचना नहीं मिली है.

‘टोलो न्यूज’ के मुताबिक, पूर्वी प्रांत नंगरहार के गवर्नर के साथ बैठक के दौरान अमेरिकी कमांडर जनरल स्कॉट मिलर ने कहा, 'मेरे पास कोई आदेश नहीं आया, इसलिए कुछ भी नहीं बदला है.' मिलर अफगानिस्तान में नाटो के शीर्ष कमांडर भी हैं. एक अमेरिकी अधिकारी ने पिछले सप्ताह एएफपी को बताया था कि ट्रंप ने देश में 14000 अमेरिकी सुरक्षा बलों में से आधे को वापस बुलाने का फैसला किया है, लेकिन व्हाइट हाउस ने अब तक इस कदम की पुष्टि नहीं की है. काबुल में नाटो के रिजोल्यूट सपोर्ट मिशन ने टिप्पणी की पुष्टि की. मिलर ने कहा, 'लेकिन, अगर मुझे आदेश मिला भी तो मेरा मानना है कि हमारे पास अभी सुरक्षा बल हैं. पहले से कम भी हो तो कोई बात नहीं.'

(भाषा से इनपुट)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi